15 नवम्बर को बंद होंगे विश्व प्रसिद्ध यमनोत्री धाम के कपाट

0
163

देहरादून। दशहरा के पावन पर्व पर विश्व प्रसिद्ध यमुनोत्री धाम के कपाट बंद होने की तिथि व मुहूर्त तय किये गये है। जिसके अनुसार यमुनोत्री धाम के कपाट 15 नवम्बर को भाई दूज के पावन पर्व पर छह माह के लिए बंद कर दिये जायेगें।
आज मां यमुना के शीतकालीन प्रवास खरशाली गांव स्थित मंदिर परिसर में पुरोहित समाज की बैठक में मुहूर्त निकाला गया है। जिसके अनुसार यमुनोत्री धाम के कपाट 15 नवंबर बुधवार को भाई दूज के पावन पर्व पर 11 बजकर 57 मिनट पर अभिजीत मुहूर्त(मकर लग्न) में विशेष पूजा अर्चना के बाद छह माह के लिए बंद किए जाएंगे।
बता दें कि गंगोत्री धाम के कपाट बंद होने की तिथि व मुहूर्त शारदीय नवरात्र के पहले दिन तय किये गये थे। गंगोत्री धाम के कपाट शीतकाल के लिए 14 नवंबर को अन्नकूट के पावन पर्व पर अभिजीत मुहूर्त की शुभ बेला पर 11 बजकर 45 मिनट पर बंद किए जाएंगे। इस वर्ष जहां चारधाम यात्रा में श्रद्धालुओं ने नया कीर्तिमान स्थापित किया। ठीक उसी प्रकार पंच केदार में तृतीय तुंगनाथ की यात्रा ने भी नया कीर्तिमान बनाया है। जहां, पहली बार दर्शनार्थियों की संख्या एक लाख के पार पहुंच गई है। बाबा के भक्तों के उमड़ने से यात्राकाल में मस्तूरा से तुंंगनाथ तक कारोबार को भी नई गति मिली है।
उत्तराखंड पुलिस ने एक डाटा जारी किया है, जिसके मुताबिक 50 लाख से अधिक श्रद्धालु इस बार अभी तक बद्रीनाथ, केदारनाथ, गंगोत्री, यमुनोत्री और हेमकुंड साहिब में यात्रा कर चुके हैं। वहीं, सबसे ज्यादा श्रद्धालुओं ने केदारनाथ धाम की यात्रा की है। इसके बाद बद्रीनाथ धाम और फिर गंगोत्री और यमुनोत्री धाम की यात्रा की है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here