मन्दिरों, गुरूद्वारों में चोरी करने वाले अर्न्तराज्यीय गैंग के दो सदस्य गिरफ्तार

0
215

देहरादून। पुलिस ने मन्दिरों व गुरूद्वारों में चोरी करने वाले अर्न्तराज्यीय गिरोह के दो सदस्यों को गिरफ्तर कर उनके कब्जे से गुरूद्वारे से चोर सामान बरामद कर लिया।
आज यहां इसकी जानकारी देते हुए एसपी देहात कमलेश उपाध्याय जानकारी देते हुए बताया कि गुरदेव सिंह पुत्र स्व. निरंजन सिंह ग्राम खैरी डोईवाला जनपद देहरादून ने थाना डोईवाला पर मुकदमा दर्ज कराते हुए बताया कि 18/19 दिसम्बर—2022 की रात्रि मे ग्राम खैरी द्वितीय मारखम ग्राण्ट स्थित श्री गुरुतेग बहादुर साहिब जी गुरुद्वारा डोईवाला में चोरों द्वारा गुरुद्वारे का दानपात्र को तोड़कर उसमें रखी नगदी व चाँदी का छत्र कीमती 40 हजार रूपये, गुरुद्वारा परिसर मे लगे सी.सी.टी.वी कैमरे व डी.वी.आर उखाड़ कर चोरी कर ले गये। पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी। धार्मिक स्थल पर हुयी चोरी की घटना की संवेदनशीलता को देखते हुए कोतवाली डोईवाला द्वारा अलग—2 टीमे तैयार की गयी। पुलिस टीमो द्वारा गुरुद्वारे के आसपास एवं थाना क्षेत्र में पढ़ने वाले अन्य सभी गुरुद्वारों मे लगे सीसीटीवी कैमरे को चैक किया गया। सीसीटीवी कैमरे चैक करने के उपरांत सिख समुदाय के 02 संदिग्ध व्यक्ति घटना से 01 दिन पूर्व सभी गुरुद्वारो में आते—जाते दिखायी दिये जिनकी गतिविधियां संदिग्ध होनी प्रकाश में आयी। सीसीटीवी कैमरे में आये संदिग्ध व्यक्तियो की पहचान हेतु पंपलेट तैयार कर सभी गुरुद्वारों को वितरित किए गए। संदिग्ध व्यक्तियो मे सिख समुदाय का 01 व्यक्ति कुलवन्त सिंह उर्फ राजू पुत्र बलवन्त सिंह निवासी फतेहगंज थाना गदरपुर जिला उधमसिंह नगर उत्तराखण्ड है, जो कई राज्यो मे मंदिर व गुरुद्वारों में चोरी करने वाले गैंग का सक्रिय गैंग लीडर हैं। उक्त गैंग द्वारा पूर्व में भी थाना राजपुर देहरादून स्थित साईं मंदिर में लाखों की चोरी की गई थी। इसके अतिरिक्त कोटद्वार के सिद्धबली मंदिर व अन्य प्रांतों हरियाणा, उत्तर प्रदेश के लखनऊ, आगरा में भी मन्दिरो व गुरूद्वारो मे चोरी की घटना की गई है। वह एक शातिर किस्म का चोर है जो दिन में गुरुद्वारे/मंदिरों की रैकी करता है व रात्रि मे चोरी की घटना को अंजाम देता है। पुलिस को पता चला कि राजू गदरपुर थाने का हिस्ट्रीशीटर है। जिसके खिलाफ 15 मुकदमें दर्ज हैं। पुलिस ने गत दिवस घटना मे शामिल दोनो अभियुत्तQो को लालतप्पड़ गुरूद्वारे के निकट से गिरफ्तार किया गया। जिनके कब्जे से गुरूद्वारे से चोरी किये गये छत्र व नगदी बरामद कर ली। पूछताछ में उन्होंने बताया कि उनका एक संगठित गिरोह है जिसका सरगना कुलवन्त सिंह उर्फ राजू है। पूछताछ में दूसरे ने अपना नाम अवतार ंिसह पुत्र सरजीत सिंह निवासी दिल्ली बताया। एसपी देहात ने बताया कि कुलवन्त सिंह के खिलाफ उत्तराखण्ड, दिल्ली, उत्तर प्रदेश में मन्दिरों व गुरूद्वारों में चोरी के दर्जनों मुकदमें दर्ज है। वर्ष 2012 में इसने अपने साथियों के साथ राजपुर स्थित सांई मन्दिर से लगभग 35 लाख रूपये की चोरी की घटना को अंजाम दिया था जिसमे इसको गिरफ्तार कर लिया गया था। पुलिस ने दोनों को न्यायालय में पेश किया जहां से उनको न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here