पुरोला में थम नहीं रहा है जनाक्रोश

0
627

प्रदर्शन जारी, सीएम को भेजा ज्ञापन
सुरक्षा के मद्देनजर भारी पुलिस फोर्स तैनात

पुरोला। नगर पंचायत क्षेत्र पुरोला के एक स्कूल में पढ़ने वाली छात्रा को एक समुदाय विशेष के दो लड़कों द्वारा बहला—फुसलाकर ले जाने के प्रयास को लेेकर स्थानीय लोगों का आक्रोश थमने का नाम नहीं ले रहा है। इस घटना के विरोध में बीते 2 दिनों से चल रहा प्रदर्शन आज भी जारी रहा। लोगों का कहना है कि जब तक पुलिस प्रशासन इस समुदाय के सभी बाहरी लोगों को खदेड़ कर बाहर नहीं करेगा उनका आंदोलन जारी रहेगा।
स्थानीय लोगों का कहना है कि क्षेत्र में इस तरह के तमाम संदिग्ध लोगों की भरमार है जो गांवों में फेरी लगाकर या फल सब्जी अथवा वाहन रिपेयरिंग से लेकर मजदूरी और अन्य तरह के काम करते हैं। लोगों का कहना है कि इस तरह के संदिग्ध लोगों से कई तरह के खतरे बने हुए हैं तथा चोरी आदि की वारदातें भी आम हो गई है। पुलिस द्वारा इनका सत्यापन भी नहीं किया जाता है और यह आपराधिक घटनाओं को अंजाम देकर फरार हो जाते हैं।
क्षेत्रवासियों में इस घटना को लेकर भारी आक्रोश है उनका कहना है कि पहाड़ की बेटियों पर बुरी नजर रखने वाले और देवभूमि की संस्कृति पर हमला करने वालों को किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। भले ही आरोपियों को पुलिस के हवाले किया जा चुका है लेकिन क्षेत्रवासियों का कहना है कि वह अब इस क्षेत्र में गैर समुदाय के इन लोगों को कतई भी बर्दाश्त नहीं करेंगे। आज भी बड़ी संख्या में मोरी बैंड पर भारी संख्या में स्थानीय लोग व आसपास के क्षेत्र के लोग जमा हुए जिन्होंने प्रशासन के खिलाफ जमकर प्रदर्शन किया और इन अराजक तत्वों को क्षेत्र से बाहर करने की मांग की। क्षेत्रवासियों ने एसडीएम के माध्यम से मुख्यमंत्री धामी के नाम ज्ञापन भी सौंपा है। इस घटना को लेकर क्षेत्र में भारी आक्रोश है जिसके मद्देनजर भारी पुलिस बल की तैनाती की गई है।
बीते गुरुवार को सामने आई इस घटना के बाद जनाक्रोश को देखते हुए बड़ी संख्या में गैर समुदाय के लोगों के पलायन की भी खबरें हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here