औचक निरीक्षण में अनुपस्थित मिले 23 पुलिस कर्मियों के वेतन रोके

0
502

25 का कटा एक दिन का वेतन

हरिद्वार। औचक निरीक्षण के दौरान पुलिस कार्यालय की शाखाओं में अनुपस्थित पाये जाने पर एसएसपी द्वारा कड़ा रूख अपनाते हुए जहंा 23 पुलिस कर्मियों केे वेतन रोक दिये गये है वहीं 25 कर्मियों के एक दिन का वेतन काटने के आदेश जारी कियेे गये है।
कांवड़ मेले की सकुशल समाप्ति पश्चात जब अचानक एसएसपी हरिद्वार अजय सिंह द्वारा ऑफिस का रुख करते हुए जब पुलिस कार्यालय की शाखाओं का औचक निरीक्षण किया गया तो वहंां कार्यालय की विभिन्न शाखाओं में कार्यरत 25 कर्मचारी अनुपस्थित पाए गए। जिस पर कड़ा रुख लेते हुए उन्होने ट्टकाम नहीं तो दाम नहीं’ के आधार पर 25 कर्मचारियों को नोटिस जारी करते हुए 1 दिन की वेतन कटौती जबकि ट्टअग्रिम आदेश तक’ 23 कर्मचारियों के वेतन रोकने के आदेश जारी किए गए हैं।
एसएसपी अजय सिंह की इस कार्रवाई से जहां पूरे कार्यालय के पुलिस कर्मचारियों में हड़कंप मच गया तो वहीं अब नोटिस कैंसिल करवाने को पुलिस कर्मचारी इधर—उधर भागते नजर आ रहे है। जिन पुलिसकर्मियों को नोटिस जारी हुए उनके नाम कांस्टेबल सुनील ध्यानी— आंकिक शाखा, कॉन्स्टेबल विनय उनियाल— आंकिक शाखा, महिला कॉन्स्टेबल नानकी— आंकिक शाखा, महिला कॉन्स्टेबल कल्पना पांडे— आंकिक शाखा, कॉन्स्टेबल प्रवीण खत्री— बीट/समन सेल/ सीएम हेल्पलाइन, महिला कॉन्स्टेबल पुष्पा रावत— बीट/समन सेल/सीएम हेल्पलाइन, महिला कॉन्स्टेबल रीना उपाध्याय— सीओ ज्वालापुर ऑफिस, कॉन्स्टेबल पंकज कुमार— सीओ ज्वालापुर ऑफिस, महिला कॉन्स्टेबल पूनम— सीओ ज्वालापुर ऑफिस महिला कॉन्स्टेबल मनजीत— सीओ सदर ऑफिस, महिला कॉन्स्टेबल पूनम चौहान— शिकायत प्रकोष्ठ,महिला कॉन्स्टेबल नीलम— शिकायत प्रकोष्ठ, कॉन्स्टेबल राजपाल— डीसीआरबी, कॉन्स्टेबल प्रदीप भटृ— प्रधान लिपिक शाखा, महिला कॉन्स्टेबल ममता— प्रधान लिपिक शाखा, कॉन्स्टेबल मनोज कापड़ी—प्रधान लिपिक शाखा, महिला कॉन्स्टेबल मंजू जोशी—प्रधान लिपिक शाखा, महिला कॉन्स्टेबल नीलम जोशी— एसपी क्राइम ऑफिस, कॉन्स्टेबल निर्देश —एसपी क्राइम ऑफिस, महिला कॉन्स्टेबल नेहा डुकलान— एसपी क्राइम ऑफिस, हेड कांस्टेबल नीरज —सीओ ऑफिस, इंस्पेक्टर दिनेश कोहली—एसआईएस शाखा,उप निरीक्षक रणजीत खनेडा एसआईएस शाखा, उप निरीक्षक अजय शाह—एसआईएस शाखा व हेड कांस्टेबल बचन सिंह एसआईएस शाखा शामिल है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here