सड़क सुरक्षा एवं दुर्घटना न्यूनीकरण अनुश्रवण समिति की बैठक आयोजित

0
115

हरिद्वार। जिलाधिकारीधीराज सिंह गर्ब्याल की अध्यक्षता में बुधवार को कलक्ट्रेट सभागार में सड़क सुरक्षा एवं दुर्घटना न्यूनीकरण अनुश्रवण समिति की बैठक आयोजित हुई। बैठक में जिलाधिकारी को अधिशासी अभियन्ता लोक निर्माण ने प्रस्तुतीकरण के माध्यम से सड़क सुरक्षा एवं दुर्घटना न्यूनीकरण के सम्बन्ध में विस्तृत जानकारी दी। श्री धीराज सिंह गर्ब्याल ने बैठक में ई-रिक्शा के संचालन, टैक्सियों आदि के किराया के सम्बन्ध में विस्तार से चर्चा की। इस पर अधिकारियों ने बताया कि हरिद्वार शहर में ई-रिक्शाओं के रोटेशन हेतु 16 रूट तय किये गये हैं तथा वर्तमाान में निर्धारित रूट पर ही ई-रिक्शाओं का संचालन हो रहा है। इस पर जिलाधिकारी ने अधिकारियों को निर्देश दिये कि जितने भी सवारी वाहन-टैक्सी आदि हैं, उनका जो किराया निर्धारित है, उसकी रेट लिस्ट, सभी सवारी वाहनों पर लगाने के साथ ही, उसका व्यापक प्रचार-प्रसार किया जाये ताकि किसी भी यात्री/श्रद्धालु से अधिक किराया न वसूला जाये। बैठक में सुरक्षा की दृष्टि से शिवमूर्ति चौक से रेलवे की ओर बने हुये खुले नाले के सम्बन्ध में चर्चा हुई, जिस पर जिलाधिकारी ने हरिद्वार-रूड़की विकास प्राधिकरण को इस नाले का जीर्णोद्धार करते हुये इसे कवर करने निर्देश अधिकारियांें को दिये। सड़क सुरक्षा की बैठक में चण्डीपुल से श्यामपुर की ओर जाने वाली सड़क, खासतौर पर चण्डीपुल से चण्डीदेवी रोपवे तक जाने वाली रोड के सम्बन्ध में विस्तार से विचार-विमर्श हुआ। जिस पर जिलाधिकारी ने अधिकारियों को निर्देश दिये कि इस क्षेत्र में जगह-जगह पर पहाड़ से पत्थर व मिट्टी खिसकने की घटनायें होती रहती हैं, जिसके स्थायी समाधान के लिये ऐसे स्थानों में आधुनिक विधि से लोहे की तार जाली लगाने के साथ ही रोड के किनारे-किनारे क्रेश वैरियर लगाना सुनिश्चित करें। जिलाधिकारी ने बैठक में मेला कण्ट्रोल रूम व हरकीपैड़ी के आस-पास का जिक्र करते हुये कहा कि इस क्षेत्र में श्रद्धालुओं एवं पर्यटकों का बड़ी संख्या में आना-जाना लगा रहता है, लेकिन जगह-जगह तार आदि बिखरे रहते हैं, जिसे भी ठीक किया जाये तथा इस क्षेत्र का सौन्दर्यीकरण किया जाये। बैठक में राष्ट्रीय राजमार्ग पर एसओएस से सम्बन्धित बूथ को संचालित करने तथा सीसीटीवी की संख्या को बढ़ाने के सम्बन्ध में एनएचआई के अधिकारियों ने बताया कि एसओएस टेलीफोन की केबिल को ठीक कर दिया गया है तथा सीसीटीवी कैमरों की संख्या को बढ़ाने से सम्बन्धित कार्य प्रगति पर है। बैठक में अधिकारियों ने हिट एण्ड रन प्रकरणों पर चर्चा के दौरान बताया गया कि वर्ष 2022 में हिट एण्ड रन के अन्तर्गत माह दिसम्बर तक पंजीकृत 83 अभियोगों में से 10 अभियोग में सोलेशियम स्कीम की रिपोर्ट सम्बन्धित उप जिलाधिकारी कार्यालय प्रेषित की जा चुकी है। शेष अभियोग विचाराधीन हैं। इस पर जिलाधिकारी ने अधिकारियों को निर्देश दिये कि जितने भी पुराने मामले हैं, उन पर 15 दिन के भीतर कार्रवाई करना सुनिश्चित करें। हाइवे पर वाहनों का गलत साइड में चलने के कारण होने वाली दुर्घटनाओं के बारे में भी बैठक में चर्चा हुई। इस पर जिलाधिकारी ने अधिकारियों को निर्देश दिये कि सीपीयू की टीमों द्वारा लगातार प्रवर्तन की कार्यवाही, अभियान चलाकर करना सुनिश्चित करें। बैठक में ब्लैक स्पॉट/दुर्घटना सम्भावित क्षेत्रों के सम्बन्ध में विस्तृत चर्चा हुई। अधिकारियों ने बताया कि वर्तमान में 31 ब्लैक स्पॉट चिह्नित हैं, जिनमें से 20 की कमियों को ठीक कर दिया गया है तथा 11 ब्लैक स्पॉट की कमियां दूर करने की कार्रवाई गतिमान है। परिवहन विभाग के अधिकारियों ने बताया कि इसके अलावा ऐसे स्थल जहां पर ब्लैक स्पॉट के मानकों के अनुसार सड़क दुर्घटना घटित हुई हो, का पुनः सर्वेक्षण किया गया हैं, उसके सम्बन्ध में रिपोर्ट प्रस्तुत कर दी गयी है। श्री धीराज सिंह गर्ब्याल ने परिवहन व पुलिस विभाग के अधिकारियों से चालान व प्रवर्तन के सम्बन्ध में जानकारी ली, तो अधिकारियों ने बताया कि चालान की कार्रवाई लगातार जारी है। इस पर जिलाधिकारी ने अधिकारियों को निर्देश दिये कि वे बसों, भारी वाहनों तथा अन्य के विरूद्ध चालान व प्रवर्तन की कार्रवाई में और तेजी लायें। सड़क सुरक्षा जागरूकता की चर्चा करते हुये अधिकारियों ने बताया गया कि विद्यालयों में सड़क सुरक्षा जागरूकता आयोजन करने से इसका अच्छा प्रभाव पड़ा है तथा छात्र-छात्राओं व शिक्षक/शिक्षिकाओं को सड़क सुरक्षा के प्रति जागरूक किया गया तथा सड़क सुरक्षा सम्बन्धी सामग्री का वितरण भी किया गया। इस पर जिलाधिकारी ने अधिकारियों को निर्देश दिये कि समय-समय पर जन-जागरूकता के कार्यक्रमों आयोजित होते रहने चाहिये। बैठक में विभिन्न खण्डों द्वारा जनपदीय सड़क सुरक्षा समिति के समक्ष सड़क सुरक्षा से सम्बन्धित विभिन्न कराये जाने वाले कार्यों को अनुमोदनार्थ प्रस्तुत किया गया। इसके अतिरिक्त बैठक में फ्लाई ओवर के नीचे पार्किंग की व्यवस्था, शंकराचार्य चौक पर पुलिस मार्डन बूथ की स्थापना, दूदाधारी चौक के पास बन रहे फ्लाई ओवर के आसपास निर्माण कार्य के साथ ही वाहनों के लिये अधिक से अधिक स्पेस उपलब्ध कराना, टैªफिक रडार की खरीददारी आदि के सम्बन्ध में विचार-विमर्श हुआ। इस अवसर पर अपर जिलाधिकारी(वित्त एवं राजस्व) श्री बीर सिंह बुदियाल, अपर जिलाधिकारी(प्रशासन)श्री पी0एल0 शाह, सचिव एचआरडीए श्री उत्तम सिंह चौहान, संयुक्त मजिस्ट्रेट रूड़की श्री अभिनव शाह, एमएनए श्री दयानन्द सरस्वती, एसडीएम श्री पूरण सिंह राणा, एसडीएम लक्सर श्री गोपाल राम बिनवाल, एसपी सिटी श्री स्वतंत्र कुमार सिंह, सहायक सम्भागीय परिवहन अधिकारी(प्रशासन) श्री रत्नाकर सिंह, सहायक सम्भागीय परिवहन अधिकारी(प्रवर्तन) सुश्री रश्मि पन्त, डॉ0 आर0के0 सिंह, अधीक्षण अभियन्ता लोक निर्माण श्री एस0के0 गर्ग, अधिशासी अभियन्ता लोक निर्माण श्री सुरेश तोमर, अधिशासी अभियन्ता सिंचाई सुश्री मंजू, अधिशासी अभियन्ता एनआईएच सहित सिडकुल तथा पुलिस विभागों के अधिकारीगण उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here