अफीम की खेती करने वाला 8 माह से फरार 20 हजार का इनामी दबोचा

0
112

टिहरी। गांव की जमीनों पर अफीम की खेती करने के मामले में बीते आठ माह से फरार चल रहे 20 हजार के ईनामी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी अपनी व अन्य लोगों की जमीनों पर अफीम की खेती कर रहा था जिसे पुलिस द्वारा पूर्व में ही नष्ट किया जा चुका है।
जानकारी के अनुसार बीती 29 अपै्रल को थाना थत्यूड पुलिस को सूचना मिली कि ग्राम खटृ में अफीम की खेती की जा रही है। सूचना पर क्षेत्राधिकारी सदर व थानाध्यक्ष थत्यूड द्वारा मय टीम के दबिश दी गई व मौके पर पाया गया कि ग्राम खटृ की छानियों के पास दो खेतों में क्रमशः 0.036 हैक्टेयर व 0.010 हैक्टेयर कुल 0.046 हैक्टेयर भूमि पर अवैध रुप से अफीम की खेती की जा रही है। जिसे मौके पर ही नष्ट किया गया था इस आधार पर थाना थत्यूड में मुकदमा पंजीकृत किया गया। विवेचना के दौरान प्रकाश में आया कि उपरोक्त अफीम की खेती बलदेव सिंह पुत्र मान सिंह ग्राम खट्ट नाम के एक व्यक्ति द्वारा अपने व अन्य लोगों की जमीनों पर की जा रही है। जिस पर पुलिस द्वारा लगातार बलदेव सिंह को पकड़ने के लिये प्रयास किये गये लेकिन यह लगातार घर से फरार चल रहा था। जिस पर पुलिस द्वारा 20 हजार रूपये का ईनाम भी घोषित कर दिया गया था। 20 हजार के ईनामी बदमाश बलदेव सिंह की खोज में जुटी पुलिस टीम द्वारा उसे बीते रोज एक सूचना के बाद डिग्री कालेज चौैराहा थत्यूड़ के पास से गिरफ्तार कर लिया गया है। आरोपी ने पूछताछ मेें बताया कि ज्यादा पैसे कमाने के लालच में उसने अफीम की खेती की थी व उसने चोरी छुपे गांव से बाहर रहने वाले लोगों की जमीनों पर भी खेती की थी। जब वह अफीम बेचने के लिए ग्राहकों की तलाश कर ही रहा था कि पुलिस ने खेती को नष्ट कर दिया तथा छुपने के बारे में बताया कि वह मुकदमा लिखे जाने के बाद से ही रिश्तेदारों के घरों और इधर—उधर छुप रहा था। नष्ट की गयी अफीम की अनुमानित कीमत करीब 3 लाख 15 हजार रुपये बतायी गयी थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here