105 करोड़ के घोटाले में फरार चल रही आईएएस सेवाली देवी शर्मा गिरफ्तार

0
459


जयपुर। असम में 105 करोड़ रुपये के सरकारी घोटाले में फरार चल रही निलंबित आईएएस सेवाली देवी शर्मा और उनके दामाद अजीतपाल सिंह सहित 3 लोगों को असम पुलिस ने राजस्थान के अजमेर जिले से गिरफ्तार किया है। गिरफ्तारी से बचने के लिए भारतीय प्रशासनिक सेवा की निलंबित अधिकारी सेवाली शर्मा अपने दामाद और घरेलू नौकरानी सहित 3 लोगों के साथ अजमेर के कोतवाली इलाके में होटल क्रॉस लेन में ठहरी हुई थी। असम पुलिस ने अजमेर पुलिस के सहयोग को उनको पकड़ा है। उसके बाद असम पुलिस ने आरोपियों को अजमेर कोर्ट में पेश कर ट्रांजिट रिमांड लिया। बाद में वह उनको लेकर असम के लिए रवाना हो गई। बताया जा रहा है कि दो दिन पहले ही ये तीनोंअजमेर पहुंचे थे। उनके अजमेर पहुंचने की भनक लगने पर असम पुलिस टीम भी रविवार रात को अजमेर पहुंच गई। उसके बाद अजमेर में कोतवाली पुलिस की मदद से होटल क्रास लेन में दबिश देकर निलंबित आईएएस और उसके दामाद सहित उनको पकड़ लिया गया।
जानकारी के अनुसार आईएएस सेवाली देवी शर्मा पर आरोप है कि वे वर्ष 2017 से 2020 तक एससीईआरटी के एक्जीक्यूटिव के रूप में पदस्थ थी। अपने पद पर बने रहने के दौरान आईएएस सेवाली देवी शर्मा ने सरकार की बगैर अनुमति के 5 बैंक अकाउंट खुलवाए। उसके बाद पेशे से कांट्रेक्टर अपने दामाद अजीतपाल सिंह की मदद से कोई वर्क ऑर्डर जारी किए बगैर ही बैंक खाते से 105 करोड़ रुपये निकाल लिए। यह घोटाला सामने आने पर असम सरकार ने आईएएस सेवाली देवी शर्मा को सस्पेंड कर दिया था। इस घोटाले को लेकर असम के कामरुप जिले में विजीलेंस थाने में केस दर्ज हुआ था। उसके बाद गिरफ्तारी के डर से फरारी काटते हुए सेवाली देवी शर्मा अजमेर पहुंची थी। लेकिन सेवाली शर्मा को ट्रैक कर रही असम पुलिस ने उसे पकड़ लिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here