शर्मनाकः महिला रेसलर गंगा में विसर्जित करेंगी मैडल

0
319

न्याय न मिलने से नाराज महिला पहलवानों ने की घोषणा
यौन उत्पीड़न के खिलाफ 5 माह से कर रही हैं आंदोलन

देहरादून। अपने मानसिक और शारीरिक उत्पीड़न के खिलाफ जनवरी से आंदोलित देश की महिला पहलवानों में इस बात को लेकर खासी नाराजगी है कि शासन और प्रशासन स्तर पर कोई भी उनकी शिकायत सुनने के लिए तैयार नहीं है न्याय दिलाने की बात तो दूर है। अपनी उपेक्षा और उत्पीड़न से तंग आकर आज इन महिला पहलवानों द्वारा शाम 6 बजे हरिद्वार में हर की पैड़ी पर अपने मैडल गंगा में प्रवाहित करने का ऐलान किया गया है।


इस आशय की जानकारी मेडलिस्ट बजरंग पूनिया द्वारा अपने ट्विटर हैंडल के माध्यम से दी गई है। यहां यह उल्लेखनीय है कि इन महिला पहलवानों द्वारा कुश्ती संघ के अध्यक्ष बृजभूषण पर अपने यौन उत्पीड़न का आरोप लगाते हुए उन्हें पद से हटाने तथा उनकी गिरफ्तारी की मांग लंबे समय से कर रहे हैं। इन महिला पहलवानों की जब पुलिस ने रिपोर्ट तक नहीं लिखी तो सबसे पहले जनवरी माह में यह दिल्ली के जंतर मंतर पर धरना प्रदर्शन के लिए बाध्य हुई। हाईकोर्ट के आदेश पर इन महिलाओं की शिकायत पर रिपोर्ट तो दर्ज कर ली गई मगर ब्रजभूषण के खिलाफ कोई कार्यवाही शासन—प्रशासन स्तर पर नहीं हुई। खेल राज्यमंत्री अनुराग ठाकुर ने न्याय का भरोसा देकर इनका धरना प्रदर्शन खत्म करा दिया था लेकिन 4 महीने बाद भी कोई कार्यवाही न होने पर इन महिला पहलवानों को दोबारा जंतर मंतर का रुख करना पड़ा। पुलिस प्रशासन के साथ इनकी अब तक कई बार तकरार भी हो चुकी है किंतु दिल्ली में बैठी केंद्र सरकार के कान पर अब तक जूं तक नहीं रेंगी है। अभी नए संसद भवन के उद्घाटन के अवसर पर इन महिला पहलवानों द्वारा सरकार तक अपनी आवाज पहुंचाने के लिए सदन भवन कूच किया गया किंतु शासन—प्रशासन को उनकी यह पहल इतनी नागवार गुजरी की जंतर मंतर से इन महिला पहलवानों के तंबू डेरा ही उखाड़ कर फेंक दिए गए। यह हाल तब है जब हरियाणा और उत्तर प्रदेश की तमाम खाप पंचायतें और भारतीय किसान यूनियन इन बेटियों के समर्थन में खड़े हैं। देश की व्यवस्थाओं से क्षुुब्द इन महिला पहलवानों ने अब अपने वह मैडल जो इन्होंने ओलंपिक व अन्य अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में जीत कर देश का नाम रोशन किया था उन्हें गंगा में विसर्जित करने का फैसला लिया गया है।
जानकारी के अनुसार शाम 6 बजे हरिद्वार की हरकी पैड़ी पर वह अपने मैडल विसर्जित करेंगी लेकिन आज गंगा दशहरा है और पुलिस प्रशासन वहां मौजूद है वह ऐसा कर पाएंगे या नहीं कहा नहीं जा सकता।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here