चारधाम यात्रा क्षेत्र में गैर हिंदुओं का होगा वेरीफिकेशन

0
603
world tourist day

मुख्यमंत्री धामी ने दिए अधिकारियों को विशेष अभियान चलाने के आदेश

देहरादून। चारधाम यात्रा क्षेत्र में गैर हिंदुओं के प्रवेश के मुद्दे को लेकर मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने अपना रुख स्पष्ट करते हुए कहा है कि चारधाम यात्रा क्षेत्र में सभी गैर हिंदुओं का वेरिफिकेशन कराया जाएगा। उनका कहना है कि उन्होंने अधिकारियों को वेरिफिकेशन ड्राइव चलाने के निर्देश दे दिए गए हैं।
मुख्यमंत्री का कहना है कि हमारा प्रदेश एक शांत प्रदेश है हम चाहते हैं कि देवभूमि की धर्म संस्कृति और आध्यात्मिक छवि बरकरार रहे। इसके हर संभव प्रयास सरकार की तरफ से किए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि उत्तराखंड में अराजकता फैलाने की इजाजत किसी को भी नहीं दी जा सकती है। यंहा यह भी उल्लेखनीय है कि अभी कुछ दिन पूर्व हरिद्वार के कुछ संतो द्वारा चारधाम यात्रा में गैर हिंदुओं के प्रवेश पर रोक लगाने की मांग मुख्यमंत्री से यह कहकर की गई थी कि यात्रा मार्गों पर दुकान लगाने वालों से लेकर घोड़ा खच्चर वालों तक तमाम गैर हिंदुओं द्वारा श्रद्धालुओं के साथ अभद्रता की जाती है। इसलिए चारधाम यात्रा क्षेत्र में गैर हिंदुओं के प्रवेश पर रोक लगानी चाहिए।
मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से आज जब इस बारे में पूछा गया तो उन्होंने भले ही सीधे—सीधे चारधाम यात्रा में गैर हिंदुओं के प्रवेश पर रोक लगाने की बात न कहीं गई हो लेकिन उन्होने यह कहकर कि चारधाम यात्रा क्षेत्र में सभी गैर हिंदुओं का वेरिफिकेशन कराया जाएगा, अपनी भावनाएं और इरादों को साफ कर दिया गया है। उनका कहना है कि जिनका वेरीफिकेशन नहीं हुआ है वह अपना वेरिफिकेशन करा लें जिससे प्रशासन और सरकार के पास उनके बारे में सभी सही जानकारियां रहे।
उधर भाजपा विधायक दिलीप रावत ने भी मुख्यमंत्री धामी के इस फैसले का स्वागत करते हुए कहा है कि उनका फैसला एकदम सही है। उन्होंने कहा है कि चारधाम यात्रा में गैर हिंदुओं के प्रवेश पर रोक लगनी चाहिए उन्होंने इसके बारे में मुख्यमंत्री से राज्य में गैर हिंदुओं के बसने और जमीन खरीदने पर भी रोक लगाने की मांग की है। उनका कहना है कि गैर हिंदुओं को राज्य में किराए पर भी मकान या दुकान नहीं दिए जाने चाहिए। वह भावी भविष्य के लिए बड़ा खतरा बन सकते हैं। उन्होंने कहा कि आज पूरे उत्तराखंड में उत्तर प्रदेश से आए गैर हिंदुओं की बड़ी तादाद मौजूद है। जिससे क्षेत्रीय असंतुलन की स्थिति पैदा हो रही है वही अपराधों में भी वृद्धि हो रही है।

भाजपा की सोच विभाजनकारीः कांग्रेस
देहरादून। कांग्रेस नेताओं ने मुख्यमंत्री धामी के इस फैसले को भाजपा की विभाजनकारी सोच बताया है। पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत का कहना है कि उन्होंने तो कभी किसी गैर हिंदू को चार धाम यात्रा पर जाते नहीं देखा है हां हिंदुओं को जरूर दरगाह पर माथा टेकते और चादर चढ़ाते देखा है। पूर्व सांसद प्रदीप टम्टा का कहना है कि भाजपा के पास मंदिर—मस्जिद और हिंदू—मुस्लिम के अलावा और कोई मुद्दा ही क्या है? जबकि कांग्रेस विधायक राजेंद्र भंडारी का कहना है कि मैं हिंदू हूं मुझे इस पर गर्व है मुझे भाजपा से सर्टिफिकेट की जरूरत नहीं है। क्योंकि भाजपा के लिए सिर्फ वही हिंदू है जो भाजपा में है।

मोदी से ईशनिंदा कानून लाने की मांग
देहरादून। विश्व हिंदू रक्षा दल के कार्यकर्ताओं ने आज राजधानी में आयोजित पत्रकार वार्ता में शोभा यात्राओं के दौरान हुए हमलों की निंदा करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से एक कठोर ईशनिंदा कानून बनाने की मांग की है। दल के कार्यकर्ताओं का कहना है कि आज हिंदुओं की शोभायात्राओं के ऊपर हमले हो रहे है, मंदिरों पर हमले हो रहे हैं। हिंदुओं के देवी—देवताओं पर अश्लील टिप्पणियां कर उनका अपमान किया जा रहा है। जिसे हिंदू कतई बर्दाश्त नहीं करेंगे। उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी को पत्र लिखकर मांग की है कि ईशनिंदा कानून लेकर आए जिससे ऐसी घटनाओं पर रोक लग सके।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here