काबीना मंत्री चंदन रामदास का निधन

0
613

बागेश्वर के जिला अस्पताल में ली अंतिम सांस
सरल स्वभाव व सुलझे हुए नेता थे चंदन रामदास
लंबे समय से चल रहे थे बीमार, शोक की लहर

बागेश्वर/देहरादून। काबीना मंत्री चंदन रामदास का आज बागेश्वर के जिला अस्पताल में इलाज के दौरान निधन हो गया। उनके निधन की सूचना मिलने पर राजनीतिक हलकों में शोक की लहर है।
अपने सरल स्वभाव और एक सुलझे हुए नेता की पहचान के तौर पर जाने जाने वाले चंदन रामदास गरीब और कमजोर तथा पिछड़े वर्ग के हितैषी नेता थे। हालांकि वह लंबे समय से कई बीमारियों से जूझ रहे थे। बीते समय में उनका दिल्ली एम्स व देहरादून मैक्स अस्पताल में भी इलाज कराया गया था। लेकिन वर्तमान में वह पूरी तरह ठीक थे एक दिन पहले वह पिथौरागढ़ गए थे। वहीं कल वह प्रभारी मंत्री के तौर पर अल्मोड़ा भी गए थे जहां उन्होंने एक बैठक भी की थी, इसके बाद वह बागेश्वर पहुंचे थे। जानकारी के मुताबिक यहां उन्हें आज एक कार्यक्रम में भाग लेना था लेकिन बीती रात उनकी तबीयत बिगड़ने पर आज सुबह उन्हें बागेश्वर जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। उन्हें डायबिटीज एवं कार्डियोलॉजी की समस्याएं थी। उनके कार्यक्रम में न पहुंचने और तबीयत खराब होने की सूचना पर मंत्री सौरभ बहुगुणा व विधायक सुरेश गढ़िया भी अस्पताल पहुंच गए थे। आईसीयू में भर्ती मंत्री चंदन रामदास ने इलाज के दौरान दम तोड़ दिया।
63 वर्षीय चंदन राम दास ने सन 1980 में राजनीति में प्रवेश किया। 1997 में वह बागेश्वर नगर पालिका के अध्यक्ष बने तथा 2006 में उन्होंने भाजपा की सदस्यता ली। इसके बाद वह 2007, 2012, 2017 तथा 2022 में 4 बार लगातार विधायक चुने गए वर्तमान में वह धामी सरकार में काबीना मंत्री बने तथा उन्हें समाज कल्याण और परिवहन जैसे महत्वपूर्ण विभाग दिए गए। अस्वस्थता की स्थिति में निरंतर काम करने वाले चंदन राम दास एक सर्वप्रिय नेता थे।
उनके निधन पर सिर्फ सत्ताधारी भाजपा में ही शोक की लहर नहीं है बल्कि विपक्षी दलों के नेताओं ने भी उनके निधन पर शोक जताते हुए उनके निधन को सूबे की राजनीति के लिए एक अपूर्ण क्षति बताया है। उनके निधन की खबर आने के बाद मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने गहरा शोक व्यक्त किया है तथा आज के सभी सरकारी कार्यक्रम रद्द करते हुए तीन दिन का राजकीय शोक घोषित किया है।
कैबिनेट मंत्री चंदन राम दास के निधन पर पिछड़ा वर्ग आयोग के पूर्व अध्यक्ष अशोक वर्मा ने गहरा दुख व्यक्त किया है। उन्होंने कहा कि वास्तव में हमने एक सच्चा जनसेवक, खो दिया वे एक मृदुभाषी और सरल व्यक्ति थे, जो कि दलितो और पिछड़ों के बहुत बड़े हितैषी थे। समाज के सभी वर्गों के लोग उनसे बहुत प्रेम रखते थे। ईश्वर दिवंगत आत्मा को अपने चरणों में स्थान दे।


जन नेता के निधन पर शोक

देहरादून। काबीना मंत्री चंदन राम दास के आकस्मिक निधन पर सांध्य दैनिक ट्टदून वैली मेल’ परिवार ने शोक संवेदना व्यक्त करते हुए कहा है कि चंदन रामदास एक विधायक या मंत्री ही नहीं थे वह जन नेता थे, गरीब और कमजोर वर्ग की आवाज थे। चंदन राम दास जो सभी का दर्द समझते थे। हमने आज अति सरल स्वभाव और संवेदनशील जन नेता को खो दिया है। अभी बीते साल नाइट मार्केट का उद्घाटन करते हुए उन्होंने कहा था कि इस तरह के आयोजन आम आदमी की कमाई का अच्छा जरिया बन सकते हैं इसलिए ऐसे आयोजन होते रहने चाहिए। दून वैली मेल परिवार उनके निधन पर शोक संवेदनाएं प्रेषित करता है और ईश्वर से प्रार्थना करता है उन्हें अपने श्री चरणों में स्थान दे परिजनों को इस दुख को सहने की हिम्मत व साहस प्रदान करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here