हंगामेदार रहेगा विधानसभा सत्र

0
181

विधानसभा अध्यक्ष ने की शांतिपूर्ण सत्र संचालन की अपील
विधानसभा सत्र की कार्य योजना पर चर्चा
विपक्ष सरकार की घेराबंदी की रणनीति के लिए जुटा

देहरादून। कल 5 दिसंबर से शुरू होने वाले विधानसभा सत्र की सभी तैयारियां पूर्ण कर ली गई हैं। आज सत्र की तैयारी को लेकर दिनभर बैठकों का दौर जारी रहा। जहां कांग्रेस और भाजपा के विधायकों की अलग—अलग बैठकों में रणनीति पर विचार—विमर्श हुआ वहीं विधानसभा अध्यक्ष ने विधानसभा भवन में कार्य मंत्रणा समिति की बैठक बुलाकर सत्र की कार्यवाही की रूपरेखा तय की। शाम को उनके द्वारा बुलाई गई सर्वदलीय बैठक में सभी मंत्री और विधायकों से सत्र की शांतिपूर्ण कार्रवाई संचालन की अपील की गई।
कल 5 सितंबर से शुरू होने वाले इस मानसून सत्र की अवधि कम रखे जाने से विपक्ष नाराज है। उनका कहना है कि सरकार ने जानबूझकर सत्र की अवधी इसलिए कम कर रखी है क्योंकि सरकार जनता के उन सवालों से बचना चाहती है जो विपक्ष सदन में उठाने वाला है। कल सत्र के पहला दिन शोक संवेदनाओं की औपचारिकता में बीत जाएगा अगले दिन सरकार अपने कुछ विधेयक टेबल पर रखेगी और इसके बाद कृष्ण जन्माष्टमी की छुटृी हो जाएगी तथा आठ को अंतरिम बजट को मंजूर कराकर सत्र का समापन कर दिया जाएगा।
विपक्ष का कहना है कि विपक्ष इस सत्र में सूबे की कानून व्यवस्था तथा आपदा से जुड़े और स्वास्थ्य सेवाओं की बदहाली से जुड़े तमाम सवाल लाना चाहता है लेकिन सरकार ने सत्र का समय इतना कम रखा है कि जिससे विपक्ष को कुछ कहने का मौका ही न मिल सके। नेता विपक्ष का कहना है कि हम हर उस बात को पुरजोर तरीके से सभी के सामने सत्र में रखेंगे जो जनता के हितों से जुड़े हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here