श्रमिकों की घर वापसी शुरू, सभी श्रमिक पूर्णतया स्वस्थ

0
117
  • राज्यपाल ने केन्द्रीकृत प्रयासों को सराहा

देहरादून। सिलक्यारा सुरंग से 17 दिनों में बाहर आए 41 श्रमिकों को उनके स्वास्थ्य परीक्षण के बाद आज से उनके घर वापस भेजे जाने का काम शुरू हो गया है। राज्यपाल गुरमीत सिंह ने आज एम्स ऋषिकेश जाकर सभी श्रमिक बंधुओ का हाल—चाल पूछा। उन्होंने कहा कि सभी की मेडिकल रिपोर्ट आ चुकी है सभी श्रमिक बंधु स्वस्थ हैं और अब उन्हें उनके घर भेजा जा रहा है।
उल्लेखनीय है कि 11 नवंबर की रात 4 बजे अचानक इस सुरंग का एक बड़ा हिस्सा ढह जाने से आठ राज्यों के 41 श्रमिक सुरंग में फंस गए थे। जिन्हें बाहर निकालने के लिए 17 दिन लंबा रेस्क्यू अभियान चलाया गया था। दो दिन पूर्व इन सभी को सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया था तथा एक रात चिन्यालीसौंण सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में रखे जाने के बाद उन्हें एयरलिफ्ट कर कल ऋषिकेश एम्स लाया गया था जहां इन्हें 24 ऑब्जर्वेशन में रखा गया और इनका पूरा स्वास्थ्य परीक्षण किया गया। आज सुबह भी इनका ब्लड टेस्ट किया गया उनकी सभी मेडिकल रिपोर्ट आ गई है और सभी स्वस्थ्य बतायें गए हैं।
सभी उन आठ राज्यों के प्रतिनिधि जिन राज्यों के यह श्रमिक है यहां उन्हें लेने के लिए आए हुए हैं। आज दून प्रशासन और शासन के अधिकारियों के बीच हुई कार्डिनेशन बैठक में इन श्रमिकों की घर वापसी का प्लान तैयार किया गया है, जिसे चार हिस्सों में बांटा गया है। दूरस्थ राज्य के श्रमिकों को बाय एयर जौलीग्रांट हाईवे अड्डे से तथा कुछ को बाय ट्रेन दून व हरिद्वार से तथा कुछ को बाय बस दून से भेजा जा रहा है। कुछ श्रमिक जिनके लिए आज कोई ट्रेन या बस उपलब्ध नहीं है उन्हें कल भेजा जाएगा। कल जाने वाले श्रमिकों के ठहरने व खाने—पीने का बंदोबस्त दून में किया जा रहा है।
इस अवसर पर जहां इन श्रमिकों ने और उनके परिजनों ने संतोष जताया है वहीं राज्यपाल गुरमीत सिंह ने केंद्र सरकार और प्रधानमंत्री द्वारा इन श्रमिक बधुंओ को बाहर निकालने के लिए किए गए केंद्रीयकृत प्रयासों के लिए उनकी सराहना की है जिसकी वजह से इन सभी को नई जिंदगी मिल सकी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here