बिना रिश्वत दारोगाजी नहीं करते थे कोई काम, हुआ सस्पैंड

0
218

बरेली। भ्रष्टाचार के मामले में बरेली के एसएसपी प्रभाकर चौधरी ने मलूकपुर और किला चौकी इंचार्ज के खिलाफ शनिवार 17 जून को बड़ी कार्रवाई की हैं। उन्होंने मलूकपुर चौकी के प्रभारी रिंकू सिंह को निलंबित कर दिया।
तो वहीं, किला चौकी प्रभारी आशुतोष द्विवेदी को लाइनहाजिर कर दिया। ऐसा बताया जा रहा है कि जनता से दुर्व्यवाहर, रिश्वत लेने के साथ-साथ सट्टेबाजों और जुआरियों से दोस्ती व चौकी में पार्टी की शिकायत के बाद दोनों अधिकारियों पर यह कार्रवाई हुई है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, एसएसपी प्रभाकर चौधरी ने गोपनीय शिकायतों के लिए नंबर जारी किए हुए है। इन नंबरों पर दोनों चौकी इंचार्जों के खिलाफ पीड़ितों द्वारा शिकायतें दर्ज कराई गई थीं। इतना ही नहीं, लिखित रूप से शिकायतें भी मिली थीं। पीड़ितों की शिकायत पर एसएसपी ने दोनों अधिकारियों की गोपनीय जांच कराई तो शिकयतें सही पाई गई। एसपी सिटी राहुल भाटी के मुताबिक, जांच रिपोर्ट के आधार पर यह कार्रवाई हुई है।
रिपोर्ट्स के मुताबिक, मलूकपुर चौकी इंचार्ज आशुतोष द्विवेदी को लेकर बताया गया कि इलाके के सट्टेबाज और जुआरी अक्सर चौकी में उनके साथ बैठते हैं और यहीं पर उनकी पार्टी होती है। इतना ही नहीं, वह बिना रिश्वत लिए कोई काम नहीं करते। तो वहीं, किला चौकी प्रभारी के खिलाफ भी इसी तरह के आरोप थे।
जिसके बाद बरेली एसएसपी प्रभाकर चौधरी ने मलूकपुर रिंकू चौधरी को घोर लापरवाही, शिथिलता, अनुशासनहीनता में तत्काल प्रभाव से निलंबित किया गया है। वहीं किला चौकी इंचार्ज आशुतोष द्विवेदी को लाइनहाजिर करते हुए पुलिस लाइन भेज दिया। साथ ही, दोनों के विरुद्ध विभागीय जांच भी बैठा दी गई है।
बता दें कि इससे पहले 14 जून को एसएसपी सट्टा कराने में बारादरी के जोगी नवादा चौकी इंचार्ज सुशील कुमार, कांकरटोला चौकी इंचार्ज सुधीर कुमार के साथ हेड कांस्टेबल परमानंद सिंह, सिपाही मोहम्मद कामिल व मोहित पवार को लाइन हाजिर कर चुके हैं। लगातार कार्रवाई के बाद भी पुलिसकर्मियों में कोई सुधार नहीं है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here