एसटीएफ ने किया फर्जी आधार व वोटर कार्ड बनाने वालों का भंडाफोड

0
40


तीन लोग गिरफ्तार, 640 ब्लैंक कार्ड, 200 लैमिनेशन कवर कार्ड बरामद

देहरादून। मोटी रकम लेकर विदेशी नागरिकों को उत्तराखण्ड का नागरिक बनाने वाले फर्जी आधार सेन्टर का एसटीएफ ने खुलासा करते हुए तीन लोगों को गिरफ्तार किया। भारी संख्या में ब्लैंक प्लास्टिक कार्ड, लैमिनेशन कार्ड, आयुष्मान कार्ड आदि बरामद किये। एसटीएफ ने तीनों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है।
आज यहां एसएसपी एसटीएफ आयुष अग्रवाल ने जानकारी देते हुए बताया कि एसटीएफ को सूचना मिल रही थी ऋषिकेश के एक जन सेवा संस्थान द्वारा रूपये लेकर फर्जी कागजों के आधार पर अन्य देशों, राज्यों के निवासियों को उत्तराखण्ड का निवासी दिखाते हुए हजारों रूपये लेर फर्जी आधार कार्ड, फर्जी वोटर आई कार्ड तथा अन्य महत्वपूर्ण दस्तावेज बनाये जा रहे हैं जोकि किसी भी व्यक्ति द्वारा राष्ट्र विरोधी गतिविधियों के लिए मोबाईल सिम व्रQय करने या अन्य अपराधिक गतिविधियों के लिए प्रयोग किये जा सकते हैं। उन्होंने बताया कि उक्त सूचना पर एसटीएफ द्वारा गम्भीरता से लेते हुए गोपनीय जांच शुरू की गयी तो जानकारी करने पर पता चला कि फर्जी आधार और अन्य आईडी एक व्यक्ति लक्ष्मण सैनी द्वारा अपने साथियों के साथ मिलकर बनाए जाते हैं। जोकि अपनी दुकान में सीएससी सेन्टर चलाता है। इस सूचना को पुख्ता करने के लिए एसटीएफ ने एक योजना बनायी जिसके लिए कुछ दिन पूर्व एक नेपाली नागरिक दिलबहादूर को तैयार किया गया तथा उस नेपाली नागरिक को सीएससी एपेटाईड सेन्टर एम्स रोड ऋषिकेश आधार कार्ड बनवाने भेजा गया जहां पर सीएससी सेन्टर का मालिक लक्ष्मण सैनी 10 हजार रूपये में दिलबाहदुर सिंह नेपाली नागरिक का फर्जी आधार कार्ड, वोटर कार्ड किसी भी भारतीय, उत्तराखण्ड का वैध दस्तावेज के लिए बिना के लिए तैयार हो गया जिसके लिए एडवांस में 3 हजार रूपये ले लिये तथा 26 दिसम्बर को वोटर आई कार्ड व कुछ दिनों आधार कार्ड देने का वादा किया। जिसके बाद 26 दिसम्बर को एसटीएफ ने दिलबाहदूर को उक्त सीएससी सेन्टर भेजा तो लक्ष्मण सैनी द्वारा पौडी के किसी गांव का वोटर आईडी काार्ड बना दिया गया था और आधार कार्ड के लिए फार्म भर दिया गया था। जिसके बाद एसटीएफ ने छापा मारकर उक्त आधार सेन्टर में लक्ष्मण सैनी, पुत्र छोटेलाल सैनी निवासी मीरानगर मार्ग वीरभद्र, के साथ दो अन्यों को गिरफ्तार कर लिया जो गैर कानूनी काम कर रहे थे। एसटीएफ ने उनके कब्जे से 68 आधार कार्ड, 28 वोटर आईडी (जिनमें तीन नेपाली नागरिक के भारतीय वोटर आईडी कार्ड) 17 पेन कार्ड व सात आयुष्मान कार्ड बरामद कर लिये। पूछताछ में अन्य दो ने अपने नाम बाबू सैनी पुत्र छोटेलाल सैनी निवासी वीरभद्र, भरत सिंह उर्फ भरदे दमई पुत्र टीकाराम निवासी नेपाल हाल पता धारीदेवी कलियासौढ बताया। एसटीएफ ने तीनों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here