अब हिमाचल भी पहुंची लव जिहाद की आग

0
213

चंबा में सांप्रदायिक तनाव, धारा 144 लागू

शिमला। हिमाचल प्रदेश के चंबा में भी अब लव जिहाद की आग पहुंच चुकी हे। यहंा मनोहर हत्याकांड के बाद बीते रोज सांप्रदायिक तनाव फैल गया। गुस्साई भीड़ ने दूसरे समुदाय के आरोपियों के घरों को जला दिया। हालांकि पुलिस के पहुंचने पर भीड़ तितर—बितर हो गई। तनावपूर्ण माहौल को देखते हुए पूरे क्षेत्र में धारा 144 लगा दी गई है। वहीं मामले में नेता प्रतिपक्ष जयराम ठाकुर का कहना है कि सरकार को दलित युवक की हत्या की जांच एनआईए से करानी चाहिए।
पुलिस को कुछ दिन पहले खबर मिली थी कि गुमशुदा मनोहर को उसकी दूसरे समुदाय की प्रेमिका व उसके परिजनों ने काटकर मार डाला है। इससे इलाके में तनाव फैल गया था। बुधवार को कुछ नेताओं ने यहां के लोगों संग बैठक की। इसके बाद बीते रोज आक्रोशित ग्रामीणों ने सलूणी, संघनी, लचोड़ी, किहार बाजार बंद कराया और थाना परिसर में घुस गए। इस दौरान मौके पर मौजूद प्रशासनिक और पुलिस अधिकारी भीड़ को समझाने की कोशिश करते रहे मगर वह नहीं माने। ये लोग दूसरे समुदाय के हत्यारोपी को फांसी की सजा देने की मांग कर रहे थे। बहरहाल, स्थानीय प्रशासन और पुलिस ने हालात पर काबू पा लिया, मगर इसका असर पूरे हिमाचल में देखने को मिल रहा है।
बता दें कि चंबा के सलूणी निवासी 22 वर्षीय मनोहर छह जून से घर से लापता था। परिजनों ने इसकी पुलिस में शिकायत दी थी। नौ जून को बोरी में उसके शरीर के सात टुकड़े नाले में मिले थे। यह मामला प्रेम—प्रसंग और गैर समुदाय में शादी से जुड़ा है। हत्या का आरोप दूसरे समुदाय के लोगों पर है। पुलिस का कहना है कि मनोहर का दूसरे समुदाय की लड़की से प्रेम संबंध था। छह जून को मनोहर लड़की से मिलने गया, जहां उसकी हत्या करके शरीर के टुकड़े बोरी में भरकर नाले के पत्थरों में छिपा दिए गए थे। इस हत्या का शक लड़की और उसके परिजनों पर है। पुलिस ने तत्काल कार्रवाई करते हुए शव के टुकड़े और प्रेमिका समेत सभी आठ आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया था। मामले में मुख्यमंत्री सुखविन्दर सिंह सुख्खू का कहना है कि जांच तेजी से की जा रही है। उन्होने सभी से शांति बनाये रखने की अपील की है। वहीं नेता प्रतिपक्ष जयराम ठाकुर ने कहा है कि पूरे मामले की जांच एनआईए से करानी चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here