जोशीमठ में विरोध प्रदर्शन करने वाले माओवादीः भट्ट

0
222

पर्दे के पीछे से बाहरी ताकतों को सपोर्ट का आरोप
धार्मिक यात्रा को प्रभावित करने की कोशिश

देहरादून/रायवाला। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र भटृ ने आज जोशीमठ में सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन करने वालों को माओवादी बताते हुए बड़ा हमला किया और कहा कि वहंा प्रदर्शन करने वाली ताकतों द्वारा विदेशी ताकतों को परोक्ष समर्थन दिया जा रहा है।
महेंद्र भट्ट ने यह बात आज भाजपा कार्यसमिति की बैठक के दूसरे दिन पत्रकारों से बातचीत के दौरान कहीं। उन्होंने सीपीआई तथा आइसा का नाम लेते हुए कहा कि वामपंथी ताकतों द्वारा जोशीमठ में सरकार के खिलाफ जो विरोध प्रदर्शन किए जा रहे हैं वह विदेशी ताकतों को परोक्ष समर्थन है। उन्होंने कहा कि जोशीमठ में आम आदमी के मन में भय पैदा किया जा रहा है तथा असुरक्षा का वातावरण बनाया जा रहा है। उन्होंने आरोप लगाया कि इन राष्ट्र विरोधी ताकतों द्वारा इस बात के प्रयास किए जा रहे हैं कि किस तरह से इस धार्मिक यात्रा का मार्ग बाधित किया जाए। उन्होंने कहा कि जोशीमठ में जो आपदा आई है उसे लेकर राज्य और केंद्र सरकार पूरी गंभीरता के साथ प्रभावितों को मदद पहुंचाने में जुटी हुई है लेकिन कुछ राजनीतिक दल और संगठनों द्वारा जोशीमठ के लोगों को न सिर्फ भड़काने का प्रयास किया जा रहा है बल्कि वह क्षेत्र वासियों को भयभीत करने और डराने का प्रयास कर रहे हैं उन्होंने कहा कि जोशीमठ राष्ट्रीय सुरक्षा और धार्मिक दृष्टिकोण से अत्यंत ही महत्व का क्षेत्र है यह सभी जानते हैं। सामरिक क्षेत्र से मानवीय गतिविधियों को रोकने का जो प्रयास किया जा रहा है वह चिंताजनक है उन्होंने कहा कि अब तक की जांच पड़ताल में एनटीपीसी के कारण इस आपदा के कोई साक्ष्य सामने नहीं आए हैं मगर वामपंथी जनता को भड़काने का काम कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार इस आपदा से प्रभावितों की मदद में जुटी है। लेकिन कुछ राजनीतिक दल और संगठन नहीं चाहते हैं कि स्थिति सामान्य हो या फिर आपदा प्रभावितों के लिए कोई काम हो अथवा क्षेत्र के विकास के लिए कोई काम हो।
उधर महेंद्र भट्ट के इस बयान से नाराज जोशीमठ बचाओ संघर्ष समिति के अतुल जोशी का कहना है कि इस आपदा के समय में भी भाजपा नेता अवसर तलाश रहे हैं और घटिया राजनीति कर रहे हैं उनका कहना है कि अगर हम माओवादी हैं तो महेंद्र भट्ट ने हमें अपने घर बुलाकर जोशीमठ आपदा पर हमसे सुझाव क्यों मांगे थे। क्या वह माओवादियों को अपने घर बुलाते हैं और उनसे बात करते हैं। अगर हम माओवादी हैं तो फिर यह भी सच है कि महेंद्र भट्ट के माओवादियों से संबंध हैं। उल्लेखनीय है कि जोशीमठ के इन विरोध प्रदर्शनों में कांग्रेस भी शामिल है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here