भाजपा की पहली सूची जारी, 20 विधायकों का पत्ता साफ

0
352

यूपी के पहले व दूसरे चरण के 107 प्रत्याशी घोषित
सीएम योगी गोरखपुर (शहर) सीट से लड़ेंगे चुनाव

लखनऊ। भारतीय जनता पार्टी ने आज उत्तर प्रदेश के पहले व दूसरे चरण के चुनाव के लिए 107 प्रत्याशियों के नामों की पहली सूची जारी कर दी गई है। उसमें भाजपा के 83 सिटिंग विधायक थे, जिनमें से 20 विधायकों के टिकट काटे गए हैं तथा 21 नए चेहरों को पहली बार चुनाव लड़ने का मौका दिया गया है।
लखनऊ में आयोजित एक पत्रकार वार्ता में भाजपा के वरिष्ठ नेता धर्मेंद्र प्रधान ने आज मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ की सीट का भी ऐलान करते हुए उन अटकलों पर भी विराम लगा दिया गया जिनमें योगी के मथुरा और अयोध्या से चुनाव लड़ने की चर्चाएं जारी थी। धर्मेंद्र प्रधान ने बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा था कि राज्य की 403 सीटों में से पार्टी उन्हें जहां से भी चुनाव लड़ने का आदेश देगी वह वहीं से चुनाव लड़ने को तैयार हैं। उन्होंने कहा कि सीएम योगी को पार्टी ने गोरखपुर (शहर) सीट से चुनाव लड़ाने का फैसला किया गया है जिसे उन्होंने सहर्ष स्वीकार कर लिया है।
आज भाजपा द्वारा पहले चरण की 57 तथा दूसरे चरण की 50 सीटों पर अपने प्रत्याशी घोषित किए गए हैं। उत्तराखंड की राज्यपाल रह चुकी बेबी रानी मौर्य को भाजपा द्वारा आगरा (ग्रामीण) क्षेत्र से अपना प्रत्याशी घोषित किया गया है। भाजपा ने अपनी पहली 107 उम्मीदवारों की सूची में बेबी रानी मौर्य सहित कुल 10 महिला प्रत्याशियों को चुनाव मैदान में उतारा गया है जिसमें मुजफ्फरनगर की कैराना सीट से पूर्व भाजपा विधायक हुकुम सिंह की बेटी को टिकट दिया गया है। आज जारी की गई सूची में उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य को सिरायु (प्रयागराज) से टिकट दिया गया है तथा श्रीकांत शर्मा को मथुरा से मैदान में उतारा गया है। वही खुर्जा से मीनाक्षी सिंह, चरथावल से सपना कश्यप को टिकट दिया गया है तथा अतरौली से संदीप सिंह को टिकट मिला है। मेरठ कैंट से अमित अग्रवाल मेरठ दक्षिण से सोमेंद्र तोमर मेरठ से कमल दत्त शर्मा तथा सरधना से संगीत सोम पर भरोसा जताया गया है। भाजपा ने जिन 20 विधायकों के टिकट काटे हैं उनमें मेरठ से लक्ष्मीकांत बाजपेई व सत्य प्रकाश आदि सहित अनेक नाम शामिल है।

योगी को भाजपा ने घर वापस भेजाः अखिलेश

लखनऊ। भाजपा की पहली सूची जारी होने पर सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव ने चुटकी लेते हुए कहा है कि भाजपा समझ चुकी है कि 10 मार्च को उसका पत्ता साफ होने वाला है यही कारण है कि भाजपा ने अपने मुख्यमंत्री को पहले ही घर वापस भेज दिया है। उन्होने कहा कि कभी उनके मथुरा से चुनाव लड़ने तो कभी अयोध्या से चुनाव लड़ाने की बात की जा रही थी लेकिन भाजपा ने उन्हे वहीं भेजने का फैसला लिया है जहंा से वह आये थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here