मौसम का बिगड़ा मिजाज, श्रद्धालुओं की संख्या में कमी

0
289

अगले 3 दिन राज्य में प्री मानसूनी बारिश का अलर्ट
अब तक 30 लाख के आसपास यात्री पहुंचे चारधाम
राज्य में 25 को 5 दिनों की देरी से पहुंचेगा मानसून

देहरादून। उत्तराखंड में एक बार फिर मौसम का मिजाज बदलने वाला है आगामी 3 दिनों में प्रदेश में तेज हवाओं के साथ कहीं हल्की तो कहीं सामान्य से अधिक बारिश होगी। मौसम विभाग द्वारा ऑरेंज अलर्ट जारी करते हुए यात्रियों से सतर्कता बरतने की अपील की गई है। बीते दिनों खराब मौसम के कारण चारधाम यात्रियों की संख्या में कमी आई है। खराब मौसम के कारण आने वाले दिनों में यह संख्या और कम होने की संभावनाए जताई गयी है।
मौसम विभाग द्वारा राज्य में पहले 20—21 जून को मानसून के पहुंचने की संभावनाएं जताई गई थी लेकिन अब राज्य में मानसून 5 दिन की देरी से पहुंचेगा। उम्मीद की जा रही है कि राज्य में 25 जून को मानसून दस्तक देगा। इससे पहले प्री मानसूनी बारिश से प्रदेश में झमाझम बारिश का दौर जारी रहेगा। आगामी 3 दिनों के लिए जारी पूर्वानुमान के अनुसार उत्तराखंड में कहीं सामान्य से कम तो कहीं सामान्य से भारी बारिश तथा तेज हवाओं के साथ होने की संभावनाएं जताई गई है। जिसके चलते भूस्खलन और जलभराव की समस्याओं से दो—चार होना पड़ सकता है।
चारधाम यात्रा का आगाज इस बार खराब मौसम और बारिश तथा बर्फबारी के बीच ही हुआ था। मौसम के बदले मिजाज के बीच भी श्रद्धालुओं में भारी उत्साह देखा गया था। बीते कल तक सभी चारों धामों में 29 लाख से अधिक श्रद्धालुओं के पहुंचने की बात शासन प्रशासन द्वारा कही जा रही है। सबसे अधिक 9 लाख से अधिक श्रद्धालु केदारधाम पहुंचे हैं जबकि बद्रीनाथ धाम में 8 लाख से अधिक श्रद्धालु पहुंच चुके हैं। गंगोत्री और यमुनोत्री धामों में भी इस दौरान चार व पांच लाख के करीब यात्री पहुंचे हैं। लेकिन बीते 3 दिनों से चार धाम यात्रा पर जाने वाले श्रद्धालुओं की संख्या में लगातार कमी दर्ज की जा रही है जिसका कारण खराब मौसम को माना जा रहा है। अभी आने वाले दिनों में इन श्रद्धालुओं की संख्या में और भी कमी आने की संभावनाएं जताई गई है। अभी 3 दिन में राज्य में होने वाली प्री मानसूनी बारिश के बाद 25 जून को मानसून पहुंचने पर राज्य में अच्छी खासी बारिश होने लगेगी जिसका प्रभाव चार धाम यात्रा पर पड़ना तय है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here