अडानी ग्रुप पर जीएसटी चोरी का आरोप

0
289


नई दिल्ली। हिंडनबर्ग रिपोर्ट आने के बाद से अडानी समूह की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं। अब हिमाचल प्रदेश में अडानी समूह के लिए परेशान करने वाली खबर सामने आई है। आबकारी और टैक्सेशन विभाग की टीम ने अडानी के परवाणू स्थित विल्मर लिमिटेड के सी एंड एफ स्टोर पर छापेमारी की है। हालांकि छापेमारी की बात से अडानी विल्मर लिमिटेड ने इनकार कर दिया है। बताया जा रहा है कि यह मामला जीएसटी की चोरी से जुड़ा है, जिसको लेकर राज्य कर एवं कराधान विभाग के दक्षिण परिवर्तन जोन की टीम अडानी विल्मार लिमिटेड के गोदाम पर पहुंची थी। गोदाम पर विभाग की टीम ने रिकॉर्ड को खंगाला। अडानी विल्मार लिमिटेड के गोदाम से जो तस्वीरें सामने आई हैं, उसमें देखा जा सकता है कि अधिकारी पूछताछ के साथ कागजात खंगाल रहे हैं।
बताया जा रहा है कि हिमाचल प्रदेश में अडानी विल्मर ने पिछले साल 135 करोड़ रुपए का कारोबार किया। लेकिन कंपनी जीएसटी का सारा टैक्स इनपुट टैक्स क्रेडिट में समायोजित कर दिया। इस बात पर हैरानी जताई गई है कि विभाग ने कंपनी को टैक्स रिफंड भी कर दिया। जबकि नियमों के मुताबिक, किराना व्यापार में जीएसटी का रिफंड नहीं दिया जाता है।
छापे पर अडानी विल्मर लिमिटेड ने एक बयान जारी करते हुए कहा, “अधिकारियों को कंपनी द्वारा किए गए संचालन और व्यवहार में कोई अनियमितता नहीं मिली है। हम स्पष्ट करना चाहते हैं कि नियम 86बी के तहत जीएसटी कानून का हवाला देते हुए नगदी में जीएसटी भुगतान के लिए विशिष्ट चिंताएं, कंपनी को नगद में कर देयता का भुगतान करने की आवश्यकता नहीं है।”
अपने बयान में अडानी विल्मर लिमिटेड ने आगे कहा, “हम इस बात पर जोर देना चाहते हैं कि यह संबंधित अधिकारियों द्वारा किया गया एक नियमित निरीक्षण था और कोई छापा नहीं था, जैसा कि पहले कहा गया था या मीडिया में रिपोर्ट किया गया था।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here