अब सेवक आपके द्वार

0
114

विकास कार्यों की समीक्षा करेंगे धामी, शरदोत्सव मेले का उद्घाटन भी करेंगे

देहरादून। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी आज अपने दो दिवसीय दौरे पर राज्य के सीमांत जनपद पिथौरागढ़ के लिए रवाना हो चुके हैं। जहां वह शरदोत्सव विकास प्रदर्शनी और मेले का उद्घाटन करेंगे। मुख्यमंत्री विकास योजनाओं की समीक्षा के साथ क्षेत्र के प्रबुद्ध जनों से संवाद करेंगे। मुख्यमंत्री धामी अपने इस दौरे के दौरान एक नई शुरुआत करने जा रहे हैं सेवक आपके द्वार कार्यक्रम के तहत मुख्यमंत्री धामी स्थानीय लोगों तथा पार्टी पदाधिकारियों से जन समस्याओं पर सीधे संवाद करेंगे। अब तक की सरकारों द्वारा जनता दर्शन, जनता दरबार और सरकार आपके द्वार जैसे कार्यक्रम समय—समय पर अलग—अलग नामों से आयोजित किए जाते रहे हैं। सूबे के मुखिया जनता से सीधा संवाद करने और उनकी समस्याओं को सुनने और मौके पर उनका निस्तारण करने या अधिकारियों को निस्तारण के दिशा निर्देशन देने का काम करने के प्रयास किया जाता रहा है। खास बात यह है कि जनता दर्शन या जनता दरबार जैसे कार्यक्रम अब तक सफल नहीं रहे हैं। क्योंकि इन कार्यक्रमों को निश्चित दिवस पर आयोजित नहीं किया जाता है। सीएम या अधिकारियों की व्यस्तता के कारण यह कार्यक्रम कई बार महीनों तक लेट हो जाते हैं। कई बार इन कार्यक्रमों की जानकारी समय पर आम आदमी तक नहीं पहुंच पाती है। यही नहीं आरोप यह भी लगते रहे हैं कि जनता दरबार में ली गई शिकायतें कूड़े के डिब्बे में फेंक दी जाती हैं और उन पर कोई कार्रवाई नहीं होती है। पूर्ववर्ती त्रिवेंद्र सिंह रावत की सरकार और उससे पहले भी सरकारों द्वारा ट्टसरकार जनता के द्वार’ जैसे कार्यक्रम शुरू किए गए थे जिन्हें सुनकर ऐसा लगता है कि अब आम आदमी की समस्याएं सुनने व उनका समाधान करने के लिए सरकार खुद चलकर उनके पास आएगी लेकिन धरातल पर वैसा कुछ भी होता नहीं है। मुख्यमंत्री धामी जिन्होंने मुख्यमंत्री बनने के बाद अपने लिए खुद ही एक संबोधन खोजा था मुख्य सेवक। वह अब इस मुख्य सेवक का मुख्य हटाकर सेवक आपके द्वार के नाम से आयोजित कार्यक्रमों के माध्यम से जनता से सीधे संवाद की कोशिश कर रहे हैं। यह देखना होगा कि उनकी सेवक आपके द्वार योजना से आम आदमी की कितनी समस्याओं का समाधान हो सकता है। मुख्यमंत्री धामी आज पिथौरागढ़ में 15 दिन चलने वाले मेले का उद्घाटन करने के अलावा जिले के विकास योजनाओं की समीक्षा करेंगे तथा कल वह एनसीसी छात्रों, पार्टी पदाधिकारियों और प्रबुद्ध जनों से संवाद करेंगे और क्षेत्र की समस्याओं को जानने की कोशिश करेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here