यमुनोत्री मार्ग पर फंसे यात्रियों ने किया प्रदर्शन

0
380

सरकार से की जल्द सुरक्षित निकालने की मांग
तीन दिनों से फंसे हैं सात हजार यात्री

उत्तरकाशी/बड़कोट। यमुनोत्री हाईवे पर हुए भू धसाव के कारण फंसे यात्रियों के सब्र का बांध अब टूटता दिख रहा है जानकी चटृी में फंसे यात्रियों को शासन प्रशासन द्वारा तीन दिन बाद भी नहीं निकाला जा सका है। यात्रा मार्ग पर फंसे इन हजारों यात्रियों ने आज कार्यकारी अधिकारी का घेराव किया और स्थानीय प्रशासन के खिलाफ जोरदार प्रदर्शन किया। इन यात्रियों की सरकार से मांग है कि उन्हें जल्द से जल्द सुरक्षित निकाला जाए।
उल्लेखनीय है कि जानकीचटृी और राना चटृी के बीच सड़क की सुरक्षा दीवार ढहने और सड़क धंसने के कारण सात हजार यात्री और सैकड़ों वाहन कई स्थानों पर फंसे हुए हैं। स्थानीय प्रशासन और पीडब्ल्यूडी द्वारा सड़क को ठीक करने के जो प्रयास किए गए वह कामयाब नहीं हो सके हैं। तथा बड़े वाहनों की आवाजाही बीते तीन दिनों से बंद है तथा अभी आगामी दो—तीन दिनों तक मार्ग खुलने की संभावना भी नजर नहीं आ रही है। यही कारण है कि अब इस मार्ग पर फंसे यात्रियों का धैर्य जवाब देने लगा है।
इन यात्रियों ने आज मौके पर मौजूद अधिकारियों का घेराव किया तथा शासन प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की गई। यात्रियों का कहना है कि चार धाम यात्रा की यह कैसी व्यवस्था है जहां एक 10—15 मीटर सड़क के हिस्से की दो—चार दिनों में भी मरम्मत नहीं की जा सकती है। यात्रियों ने उत्तराखंड की सरकार से मांग की है कि उन्हें यहां से तुरंत सुरक्षित बाहर निकालने की व्यवस्था की जाए। इन यात्रियों में कई महिलाएं और बच्चे शामिल हैं।
हालांकि प्रशासन का दावा है कि जो यात्री यमुनोत्री हाईवे पर फंसे हैं उनके रहने और खाने की व्यवस्था जिला प्रशासन द्वारा की जा रही है और सड़क को खोलने के लिए काम किया जा रहा है। लेकिन सरकार की इन व्यवस्थाओं से यात्री संतुष्ट नहीं है और वह सरकार पर कुप्रबंधन का आरोप लगा रहे हैं। यमुनोत्री मार्ग के क्षतिग्रस्त होने और यात्रियों के यहां फंसे होने की खबर पाकर क्षेत्रीय विधायक संजय डोभाल ने खुद जाकर स्थिति का जायजा लिया और बताया कि प्रशासन सड़क को ठीक करने में जुटा है। जल्द ही मार्ग खुल जायेगा जबकि अधिकारी कह रहे हैं इस काम में अभी कम से कम दो दिन का समय लगेगा जब तक बड़े वाहनों की आवाजाही शुरू नहीं होती है स्थिति सामान्य नहीं होगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here