24 घंटे में कमिश्नर का कुत्ता खोजने वाली यूपी पुलिस हमलावरों को नहीं पकड़ पाई : चंद्रशेखर

0
182


सहारनपुर। भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर आजाद उर्फ रावण को सहारनपुर जिला अस्पताल से गुरुवार शाम डिस्चार्ज कर दिया गया है। अस्पताल से डिस्चार्ज होने के बाद चंद्रशेखर आजाद ने योगी सरकार और पुलिस प्रशासन पर जमकर हमला बोला है। आजाद ने कहा कि मेरठ के कमिश्नर के एक कुत्ते को 24 घंटे में ढूंढ लिया जाता है, लेकिन मुझ पर हमला करने वाले हमलावरों को पुलिस प्रशासन ने अभी तक नहीं खोज पाई है। चंद्रशेखर आजाद ने कहा कि मुझ पर जो हमला हुआ है। वह प्रसाशन की लापरवाही है। सरकार के संरक्षण के बिना ये हमला नहीं हो सकता है। आजाद ने कहा कि मेरे ऊपर हुए हमले पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ चुप क्यों है? सीएम योगी आदित्यनाथ के संरक्षण में अपराधी फल फूल रहे हैं। आजाद ने बताया कि पहली गोली मेरे कान के पास से निकली। दूसरी गोली मुझे लगी। तीसरी गोली से कार का आगे वाला शीशा टूटा गया। चौथी गोली गाड़ी की नंबर प्लेट पर लगी थी।उन्हें लगा कि मैं मर गया। लेकिन मेरे ड्राइवर ने गाड़ी वापिस घुमा ली। फायरिंग करने के बाद हमलावर फरार हो गए। आजाद ने कहा कि हमलावर उन्हें मारने के बाद सरेंडर करने चाहते थे। लेकिन वह कामयाब नहीं हो पाएं।
योगी सरकार पर हमलावर होते हुए आजाद ने कहा कि बीजेपी की शुरू से ही ये मानसिकता रही है कि गोली मारो सालों को। मुझे मारने की साजिश किसने की है। ये मैं नहीं कह सकता हूं, लेकिन मुझे मार कर किसको फायदा होगा? इसका आकलन आप खुद कर लीजिए। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि मेरे ऊपर हुए हमले पर बसपा प्रमुख मायावती चुप क्यों है? मेरे लिए वो बड़ी हैं, लेकिन मैं उनके लिए छोटा नही हूं। साथ ही उन्होंने कहा कि हमारी मांगे पूरी नहीं हुई तो 3 तारीख को सहारनपुर में महापंचायत होगी। उसमें शामिल रहूंगा।
आजाद ने कहा कि उत्तर प्रदेश में कानून व्यवस्था राम भरोसे है। हमेशा मुझे धमकी मिली है, लेकिन प्रसाशन ने कभी कोई कार्रवाई नहीं की है। इससे पहले भी मुजफरनगर में हमला हुआ। उस पर भी कोई कार्रवाई नहीं की गई। कई बार हमले की आशंका जाहिर करते हुए लाइसेंस मांगा। फिर भीं नहीं मिला है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here