उत्तरकाशी में बाजार बंद कर सड़कों पर उतरे व्यापारी

0
282

बाहरी क्षेत्र से आ रहे लोगों के सत्यापन की मांग
जुलूस निकालकर किया जिला मुख्यालय में प्रदर्शन

उत्तरकाशी। बाहरी क्षेत्र से आ रहे लोगों के सत्यापन की मांग को लेकर उत्तरकाशी जिला मुख्यालय में व्यापारियों ने सड़कों पर उतर जुलूस प्रदर्शन किया। साथ ही उत्तरकाशी बाजार बंद रखकर अपना विरोध प्रकट किया। कलेक्ट्रेट परिसर में डीएम को ज्ञापन सौंपते हुए व्यापारियों ने प्रशासन से धर्म विशेष के लोगों की सत्यापन जांच के साथ ही उनकी गतिविधियों पर पैनी नजर रखने की मांग की।
पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के तहत आज उत्तरकाशी बाजार बंद रखते हुए व्यापारी बड़ी संख्या में हनुमान चौक पर एकत्रित हुए। इसके बाद जुलूस की शक्ल में कलेक्ट्रेट के लिए निकले। शहर के विभिन्न स्थानों से होते हुए व्यापारियों ने नारेबाजी के साथ कलेक्ट्रेट पहुंचकर प्रदर्शन किया तथा डीएम को ज्ञापन सौंपा।
यहां हुई आम सभा में व्यापारियों ने कहा कि विगत कुछ समय से बाहरी क्षेत्रों से आने वाले धर्म विशेष के लोगों द्वारा पहाड़ की भोली—भाली बहू—बेटियों को, पहचान छुपाकर बहला फुसलाकर अपने साथ भगाकर ले जाने की घटनाएं बढ़ती जा रही है। इसका हालिया उदाहरण पुरोला में हुई घटना है, जिसमें एक स्थानीय नाबालिग को दो लोगों ने भगाने का प्रयास किया। ऐसी ही घटना विकासनगर में हुई है। दिल्ली में साक्षी हत्याकांड को भी धर्म विशेष के लड़के द्वारा अंजाम दिया गया। ऐसी घटनाओं से यहाँ स्थानीय जनता में आकोश बढ़ता जा रहा है। इससे पहले की यह आक्रोश और अधिक बढ़े, प्रशासन को बाहर से आने वाले इस तरह के अराजक तत्वों पर रोक लगानी चाहिए।
व्यापारियों ने कहा कि इनका गहन सत्यापन कराया जाए कि इनमें रोहिंग्या या बांगलादेशी शामिल तो नहीं हैं। शहर में इन लोगों के द्वारा फड़, ठेलिया, गन्ना जूस सेंटर लगाए जाने से रामलीला मैदान सहित बाजारों से अतिक्रमण की बाढ़ सी आ गई है, जिसको तत्काल मुक्त किया जाय साथ ही गंगोत्री नेशनल हाईवे पर जितनी भी कबाड़ की दुकानें है, इनको शहर से बाहर कराने की मांग रखी। कहा कि इनकी भी जांच होनी चाहिए कि इस तरह के असामाजिक तत्वों को यहां सुनियोजित तरीके से बुलाने का कार्य कौन लोग कर रहे हैं और ऐसे लोगों के खिलाफ भी बड़ी कार्यवाही होनी चाहिए। भीड़ काबू करने के लिए मौके पर भारी पुलिस बल तैनात रही।
प्रदर्शनकारियों में नगर व्यापार मंडल अध्यक्ष रमेश चौहान, महामंत्री मनमोहन थलवाल, कोषाध्यक्ष मान सिंह गुसाईं, जिला अध्यक्ष व्यापार मंडल सुभाष बडोनी, होटल एसोसिएशन अध्यक्ष श्ौलेंद्र मटूड़ा, सामाजिक कार्यकर्ता यशपाल वशिष्ठ, संजय अरोड़ा, मनीष पंवार, अजय प्रकाश बडोला, यशपाल पंवार, दुर्गेश प्रसाद, गिरीश रेखी, मुकुल नौटियाल, अभिषेक गोल्डी रावत, मोंटी आदि शहर के तमाम व्यापारी शामिल थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here