एक किलो चरस के साथ टूरिस्ट गाइड गिरफ्तार

0
396

देहरादून। पुलिस ने एक किलो चरस के साथ टूरिस्ट गाईड को गिरफ्तार कर उसके खिलाफ मुकदमा दर्ज कर उसको न्यायालय में पेश किया जहां से उसको न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया।
आज यहां इसकी जानकारी देते हुए पुलिस अधीक्षक नगर श्रीमती सरिता डोभाल ने बताया कि ं थानाध्यक्ष रायपुर द्वारा थाना रायपुर क्षेत्रान्तर्गत नशा करने वाले व नशा बेचने वाले तस्करों को चिह्नित कर लगातार डाटा तैयार किया जा रहा है एंव नशा करने वालों की सप्ताह में दो बार काउसलिंग की जा रही है। पूर्व में सपेरा बस्ती में थाना रायपुर पुलिस द्वारा सत्यापन की कार्रवाई की गई थी। कार्यवाही के दौरान सरपंच व उसकी पत्नी को 7.5 किलो गांजे के साथ गिरफ्तार किया गया था ।सत्यापन की कार्यवाही से पुलिस को महत्वपूर्ण जानकारियां मिली थी। रायपुर पुलिस द्वारा लगातार की जा रही कार्रवाई के परिणाम स्वरूप थानाध्यक्ष रायपुर को मिली महत्वपूर्ण जानकारियों के चलते सूचना मिली कि एक मुख्य पैडलर सहारनपुर से चरस लेकर रायपुर क्षेत्र में डिलीवरी के लिए पहुंच रहा है। प्राप्त सूचना के आधार पर थानाध्यक्ष रायपुर द्धारा सूचना तन्त्र मजबूत करते हुये एक पुलिस टीम गठित की गयी। पुलिस टीम द्धारा आदर्श कुमार पुत्र स्वर्गीय अश्विनी कुमार निवासी 88 अहीर मंडी हाथीबड़कला को एक किलो चरस के साथ रायपुर रोड गुरुद्वारा के पास से गिरफ्तार किया गया। पूछताछ में उसके द्वारा बताया गया कि 2017 तक वह करौवली अकॉर्डशिप मैनेजमेंट कंपनी मुंबई में मर्चेंट नेवी में था जिसमें उसकों चोट लगने की वजह से बाहर हो गया था उसके बाद उसने खुद की ट्रैवलिंग गाइड की कंपनी खोली जिसमें वह पर्यटको को ऋषिकेश, उत्तरकाशी टैक्सी उपलब्ध कराकर कमीशन एजेंट के रूप में कार्य करता है। टूरिस्ट गाइड के रूप में कार्य करते हुए गलत संगति पर पढ़कर वह नशे का आदि हो गया जिसकी पूर्ति के लिए पहले वह थोड़ी—थोड़ी मात्रा में चरस का नशा लिया करता था इसी बीच उसकी एक लड़की से दोस्ती हो गई और उसके खर्चे बढ़ने लगे। खर्चे और नशे की पूर्ति के लिए उसने ड्रग्स को बेचना शुरू कर दिया जिससे उसकी नशे की पूर्ति हो जा रही थी और थोड़े बहुत खर्चा निकल रहा था। धीरे—धीरे उसका लालच बढ़ता चला गया और वह अधिक मात्रा में नशे का कारोबार करने लगा इसी के चलते गत दिवस वह मिर्जापुर सहारनपुर गया जहां से उसने एक किलो चरस खरीदी और उसे बेचने के लिए रायपुर क्षेत्र में आया था। उसने अपने साथ एक दोस्त को भी साथ में चलने को कहा था लेकिन उसने रायपुर का नाम सुनकर पुलिस के डर से आने को मना कर दिया फिर वह अकेले अपनी स्कूटी में चरस लेकर रायपुर पहुंचा जहां पर पुलिस ने उसको गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने उसके खिलाफ मुकदमा दर्ज कर उसको न्यायालय में पेश किया जहां से उसको न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here