राजधानी में बाघ की दस्तक, चार साल के बच्चे को बनाया शिकार

0
388

देहरादून। राजधानी दून में बाघ की दस्तक से पुलिस व वन महकमें मे अफरा तफरी फैल गयी। यहंा बाघ घर के आंगन से एक चार साल के बच्चे को उठा ले गया। सूचना मिलने पर पुलिस व वन महकमा मौके पर पहुंचा और बच्चे की तलाश शुरू की। जिसका शव देर रात बरामद हो गया है।
यूं तो उत्तराखण्ड राज्य में वन्य जीवों और मानव संघर्ष आम बात है। पहाड़ों से लेकर मैदानी क्षेत्रों तक में आय दिन गुलदार व बाघों के हमलों की खबरें सामने आती रहती है। इस क्रम में बाघ के हमले की खबर राजधानी दून में देर रात सामने आयी है। यहंा राजपुर क्षेत्रांर्तगत अभिमन्यु क्रिकेट अकादमी से थोड़ा आगे सिंगली गांव में आयांश (4) पुत्र अरुण सिंह को बाघ उनके घर के आंगन से उठा ले गया। बाघ द्वारा 4 वर्षीय बालक को उठा कर ले जाने की सूचना मिलन पर एसएसपी देहरादून अजय सिंह द्वारा तत्काल सभी अधिकारियों व थाना प्रभारियों को लगातार कांबिंग कर बालक को तलाशने के निर्देश दिये गये। जिसके बाद पुलिस व वन विभाग की टीमों द्वारा बालक की तलाश हेतु जंगल व आसपास के इलाके में लगातार कांबिंग अभियान चलाया गया। कांबिग अभियान के दौरान पुलिस व वन विभाग की टीमों को देर रात बालक का शव बरामद हुआ। वहंीं राजपुर क्षेत्र में बाघ की दस्तक से स्थानीय लोगों में दहशत का माहौल है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here