गुलदार के हमले में तीन साल के मासूम की मौत

0
388



टिहरी। प्रतापनगर ब्लॉक के भदूरा पटृी के भरपूरिया गांव में कल देर शाम गुलदार ने एक तीन साल के मासूम को अपना शिकार बना लिया। घटना से गांव में कोहराम मच गया वहीं बताया जा रहा है कि मासूम बच्चा अपने परिवार का इकलौता चिराग था। गुलदार के हमले से भदूरा पटृी के गांवों में दहशत का माहौल है। ग्रामीणों ने वन विभाग से गुलदार को नरभक्षी घोषित कर मार गिराने की मांग की है।
प्राप्त जानकारी के अनुसार भरपूरिया गांव निवासी सुखदेव सिंह पंवार का तीन साल का बेटा आरव अपनी मां धर्मा देवी के साथ कल शाम लगभग 7.30 बजे अपने घर के आंगन में खेल रहा था। जब आरव की मां लाइट जलाने के लिए घर के अंदर गई। इस दौरान पहले से ही घात लगाये बैठे गुलदार ने आरव को आंगन से उठाकर खेतों में पटक डाला। बच्चे के चिल्लाने की आवाज सुनकर मां और पडोस के लोग बाहर आए लेकिन उन्हे बच्चा वहां दिखाई नहीं दिया। काफी ढूढ़ृ—खोज के बाद बच्चा घर से 50 मीटर दूर धान के खेतों के बीच घायल अवस्था में मिला। परिजन उसे उपचार के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र लंबगांव लेकर पहुंचे। वहां पहुंचने पर डॉक्टरों से उसे मृत घोषित कर दिया।
थानाध्यक्ष महिपाल सिंह रावत व वन रेंज अधिकारी मुकेश डिमरी ने बताया कि शाम 7.30 बजे भरपूरिया गांव से गुलदार के हमले की सूचना मिली थी। टीम घटना स्थल के लिए रवाना हो रही थी कि परिजन घायल अवस्था में बच्चे को उपचार के लिए लंबगांव अस्पताल लाए। जहां डॉक्टर से उसे मृत घोषित कर दिया। बताया जा रहा है कि बच्चे की गर्दन पर कई घाव थे। ग्रामीणों ने वन विभाग से मांग की है कि उक्त गुलदार को नरभक्षी घोषित कर उसे जल्द मार गिराया जाये। बहरहाल मासूम की मौत पर गांव में सन्नाटा पसरा हुआ है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here