राज्य के विकास में मील का पत्थर साबित होगी समिटः धामी

0
219

इन्वेस्टर्स समिट को ऐतिहासिक बनाने में जुटी सरकार

  • 12 आईएएस व 50 पीसीएस अधिकारी ड्यूटी पर तैनात
  • पीएम सहित कई मंत्रियों की मौजूदगी रहेगी
  • 3 हजार से अधिक उघमियों को भेजें निमंत्रण पत्र
  • समिट में सुरक्षा के इंतजाम भी चाक चौबंद

देहरादून। दो दिन बाद उत्तराखंड की राजधानी में आयोजित होने वाली ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट को भव्य और दिव्य बनाने के लिए सूबे के शासन—प्रशासन ने अपनी पूरी ताकत झोंक दी है। समिट का उद्घाटन करने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी खुद आ रहे हैं और समिट से पहले ही सरकार द्वारा निर्धारित लक्ष्य 2.5 लाख करोड़ से अधिक के एमओयू साइन किए जाने से सरकार इसे लेकर अत्यधिक आशावन्तित तथा उत्साहित है। मुख्यमंत्री धामी का मानना है कि यह समिट राज्य के विकास में मील का पत्थर साबित होने वाली है।
8 दिसंबर को शुरू होने वाली इस इन्वेस्टर्स समिट को लेकर यूं तो सरकार और मुख्यमंत्री ने महीनो पहले से प्रयास शुरू कर दिए थे। ब्रिटेन तथा सेन फ्रांसिस्को और दुबई से लेकर देश भर के दौरे और रोड शो सीएम धामी ने किए थे, लेकिन वह इस समिट से आने वाले निवेश लक्ष्य को हासिल करने में मिली सफलता से भी खुश और उत्साहित हैं क्योंकि 2.5 लाख करोड़ लक्ष्य के सापेक्ष अब तक 3 लाख करोड़ के निवेश प्रस्ताव उन्हें मिल चुके हैं जो एक बड़ी उपलब्धि है। यही नहीं 40 हजार करोड़ निवेश की ग्राउंडिंग भी अब तक की जा चुकी है। समिट के लिए देश—विदेश से 3 हजार से अधिक उघमियों को निमंत्रण पत्र भेजे गए हैं। समिट के दौरान 8—9 दिसंबर को भी सरकार को बड़ा निवेश मिलने की संभावना है।
8 दिसंबर को खुद प्रधानमंत्री मोदी के समिट में बतौर मुख्य अतिथि आने से उघोग जगत में भी एक बड़ा और सकारात्मक संदेश जाएगा। उनकी मौजूदगी का मतलब ही इस समिट की सफलता के लिए काफी होगा। लेकिन 9 दिसंबर को अमित शाह और धर्मेंद्र प्रधान तथा मनसुख मांडविया, अजय भटृ सहित कई केंद्रीय मंत्रियों व नेताओं की मौजूदगी भी इस आयोजन को भव्य बनाने जा रही है। मुख्यमंत्री धामी ने खुद इसकी तैयारी की कमान संभाल रखी है और एक दिन में दो—दो बार कार्यक्रम स्थल एफआरआई जाकर तैयारियों का जायजा ले रहे हैं तथा अधिकारियों को दिशा निर्देश दे रहे हैं। उन्होंने 12 आईएएस और 50 पीसीएस अधिकारियों की ड्यूटी लगाई हुई है जो अलग—अलग कामों की जिम्मेदारी संभाले हुए हैं।
कार्यक्रम की कवरेज के लिए यहां सभी सुविधाओं से लैस मीडिया सेंटर भी बनाया गया है या यह कहे कि यह मीडिया सेंटर ही वार रूम की तरह काम करेगा। प्रधानमंत्री मोदी 10 बजे जौली ग्रांट पहुंचेंगे जहां से हेलीकॉप्टर से आईएमए हैलीपैड आएंगे और फिर बाय रोड कार्यक्रम स्थल तक पहुंचेंगे। भाजपा संगठन द्वारा पीएम के भव्य स्वागत की तैयारी की जा चुकी है। इस आयोजन के लिए पुलिस विभाग द्वारा कड़ी सुरक्षा प्रबंध किए गए हैं तथा बिना पास के किसी की भी एंट्री नहीं होगी।

मुंबई के ताज होटल का स्टाफ बनाएगा मेहमानों का खाना

देहरादून। देश—विदेश से आने वाले मेहमानों व उघमियों के लिए लंच व डिनर तथा ब्रेकफास्ट तैयार करने के लिए मुंबई ताज होटल से स्टाफ बुलाया गया है। सरकार द्वारा खान—पान की व्यवस्था का जिम्मा सचिव पंकज पांडे को सौंपा गया है। उनके द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार हर दिन के खाने का मीनू अलग—अलग रखा गया है तथा इसमें एक लोकल डिश अनिवार्य रूप से रखी गई है। उन्होंने बताया कि इसके लिए मुंबई से ताज होटल के स्टाफ को बुलाया गया है। उन्होंने कहा कि फूड सेफ्टी विभाग के अधिकारियों से लेकर अन्य तमाम विभाग के अधिकारियों को अलग—अलग काम सोपा गया है।

यूकेडी नेता बोले पीएम का स्वागत

देहरादून। यूकेडी के नेताओं का कहना है कि राज्य में होने वाली इन्वेस्टर्स समिट से अगर राज्य में विकास होता है और राज्य के नौजवानों को रोजगार मिलता है तो इससे अच्छा क्या हो सकता है वह इस इन्वेस्टसग् समिट का भी स्वागत करते हैं और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आने पर उनका भी स्वागत करेंगे। उन्होंने कहा कि राज्य में लगने वाले उघोगों से राज्य के नौजवानों को 70 फीसदी रोजगार देने की व्यवस्था सरकार को करनी चाहिए जिससे राज्य में होने वाले पलायन को रोका जा सके। उन्होंने कहा कि राज्य में रोजगार देने की बातें सिर्फ बातों तक नहीं होनी चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here