उत्तराखंड, बिहार जैसे कई राज्यों में महाराष्ट्र जैसे हालात संभव

0
288

कई कांग्रेसी भाजपा में आने को आतुरः भटृ

धामी बोले पीएम मोदी व देश के विकास से प्रभावित
जो भाजपा में जाएगा भर्ती घोटाले व अंकिता मर्डर का समर्थक होगाः माहरा

देहरादून। क्या महाराष्ट्र के बाद अन्य तमाम राज्यों में राजनीतिक दलों का विघटन होने वाला है? भाजपा नेताओं के बयानों पर गौर करें तो आने वाले दिनों में उत्तराखंड और बिहार सहित अन्य कुछ राज्यों में भी ऐसा ही होने वाला है। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष और मुख्यमंत्री का कहना है कि पीएम नरेंद्र मोदी की नीतियों और विकास से प्रभावित होकर तमाम पार्टियों के नेता भाजपा से जुड़ना चाहते हैं।
भाजपा प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र भटृ के इस बयान ने एक बार फिर सूबे की राजनीति में हलचल पैदा कर दी है कि सूबे के कई बड़े कांग्रेसी नेता उनके संपर्क में हैं, जो कांग्रेस छोड़ कर भाजपा में आना चाहते हैं। उनका कहना है कि महाराष्ट्र में एनसीपी में हुए विभाजन की तर्ज पर उत्तराखंड, बिहार और राजस्थान सहित कई ऐसे राज्य हैं जहां इस तरह का विभाजन देखने को मिलेगा। भले ही प्रदेश कांग्रेस में एक और विभाजन का भाजपा नेताओं का यह शगुफा कोई नया न सही लेकिन महाराष्ट्र में शिवसेना के बाद एनसीपी के एक गुट द्वारा सरकार में शामिल होने की घटना ने उत्तराखंड सहित कई राज्यों में इन चर्चाओं को हवा दे दी है। उत्तराखंड कांग्रेस व बिहार जेडीयू के कुछ नेताओं के पार्टी छोड़कर भाजपा में जाने की खबरों ने सियासी पारे को इसलिए भी चढ़ा दिया है क्योंकि महाराष्ट्र की सियासत में हुई उठापटक का गंभीर असर विपक्षी दलों की राष्ट्रीय एकता की कोशिशों पर भी पड़ता दिख रहा है।
मुख्यमंत्री धामी का कहना है कि पीएम मोदी के नाम और काम से प्रभावित अन्य दलों के नेताओं को अब भाजपा के साथ आने में ही अपनी भलाई दिख रही है। वही भटृ का कहना है कि अब हमें यह देखना है कि किसको पार्टी में रखना है और किसको नहीं। वहीं कुछ कांग्रेसी नेताओं का कहना है कि भाजपा महाराष्ट्र की घटना को जिस तरह से प्रचारित कर रही है वह भाजपा का एक प्रोपेगेंडा है। इसे लेकर कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष करन माहरा का कहना है कि भाजपा का तो काम ही यही है भाजपा अब तक 10 राज्यों में निर्वाचित सरकारों को सत्ता से हटा चुकी है। भाजपा विकास के दम पर नहीं तोड़फोड़ के जरिए सत्ता में बने रहने का काम करती आई है लेकिन उसके इस तरह के प्रयास कब तक कारगर रहते हैं यह समय और देश के लोग तय करेंगे?
जब उनसे प्रदेश कांग्रेस में एक और टूट के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि उनकी जानकारी में तो ऐसा कुछ नहीं है लेकिन अगर कोई कांग्रेसी ऐसा करता है तो वह भर्ती घोटालों और अंकिता मर्डर केस का समर्थक ही होगा और ऐसे लोगों का पार्टी से जाना ही बेहतर होगा। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि देश में सिर्फ भाजपा ही ऐसी पार्टी है जिसके पास ऐसा डिटर्जेंट पाउडर है जो सभी तरह की गंदगी के दागों को साफ कर सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here