पुलिस प्रशासन सख्त, नहीं हो सकी महापंचायत

0
553

आनंद स्वरूप को आश्रम में किया होम अरेस्ट
ड्रोन से निगरानी, आला अधिकारी मौके पर

भगवानपुर (रुड़की)। सुप्रीम कोर्ट की सख्ती के बाद हरकत में आए सूबे के शासन—प्रशासन ने भगवानपुर के डाडा जलालपुर में काली सेना द्वारा बुलाई गई हिंदू महापंचायत आज नहीं हो सकी। पुलिस प्रशासन द्वारा बीते कल ही इस आयोजन पर रोक लगाने की घोषणा कर दी गई थी तथा आयोजन की तैयारियों को रुकवा दिया गया था। जिद पर अड़े आयोजकों को भी पुलिस हिरासत में ले लिया गया। बीते कल स्वामी दिनेशानंद को गिरफ्तार कर लिया गया वहीं आज हरिद्वार से भगवानपुर पहुंचे स्वामी आनंद स्वरूप को भी पुलिस ने मंदिर परिसर में ही हाउस अरेस्ट कर लिया गया है।
उल्लेखनीय है कि बीते 16 अप्रैल को डांडा जलालपुर में हनुमान जयंती के अवसर पर निकाली गई शोभा यात्रा के दौरान हुई हिंसा की वारदात के दोषियों पर कार्यवाही की मांग को लेकर काली सेना ने 27 अप्रैल (आज) हिंदू महा पंचायत बुलाई गई थी। लेकिन बीते कल धर्म संसद में हेट स्पीच के मामलों की सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट द्वारा उत्तराखंड शासन—प्रशासन को सख्त आदेश दिए जाने के बाद पुलिस प्रशासन द्वारा इस हिंदू महापंचायत के आयोजन पर रोक लगा दी गई थी।
महापंचायत करने से रोके जाने को लेकर आयोजकों में भारी नाराजगी है। आज पुलिस द्वारा अरेस्ट किए गए स्वामी आनंद स्वरूप का कहना है कि मुसलमान अगर बैठक करते हैं तो उस पर शासन प्रशासन चुप रहता है और हम हिंदू अगर महापंचायत करते हैं तो उस पर पुलिस का पहरा बैठा दिया जाता है। उन्होंने कहा कि शासन—प्रशासन बलपूर्वक कब तक हमें रोक सकता है उन्होंने कहा कि दमन से ज्वालामुखी को फटने से नहीं रोका जा सकता है।
उधर पुलिस द्वारा डांडा जलालपुर सहित आसपास के क्षेत्रों में बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात कर दिया गया है। महापंचायत स्थल के 10 किलोमीटर के दायरे में धारा 144 लागू कर दी गई है। तथा ड्रोन के जरिए निगरानी की जा रही है जिले के तमाम आला अधिकारी डाडा जलालपुर में डेरा जमाए हुए हैं।
आज स्थिति का जायजा लेने पहुंचे जिलाधिकारी विनय शंकर पांडे ने कहा कि स्थिति सामान्य है स्कूल, बाजार सब खुले हुए हैं एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि सांप्रदायिक टकराव को टालने के लिए यह कदम उठाए गए हैं। स्थिति सामान्य होने तक क्षेत्र की चौकसी जारी रहेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here