पुरोला में नहीं हुई महापंचायत, हिंदू जागृति मंच के अध्यक्ष सहित कई गिरफ्तार

0
177


25 जून को बड़कोट में होगी महापंचायत का दावा

उत्तरकाशी। महापंचायत को लेकर पुरोला जा रहे हिन्दू संगठनों के लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। हालांकि हिन्दू जागृति मंच के अध्यक्ष का कहना है कि अब 25 जून को बड़कोट में महापंचायत की जायेगी।
जनपद के नौगांव में आज हिंदू संगठन के लोग व व्यापारी बड़ी मात्रा में एकत्रित हुए। दरअसल हिंदू संगठनों के लोग और व्यापारी आज होने वाली महापंचायत को लेकर पुरोला कूच कर रहे थे। जिन्हे पुलिस ने नौगांव से दो किमी पूर्व मोंगरा पुल के पास रोक दिया। जिस पर आक्रोश जताते हुए सभी लोगों द्वारा सड़क पर ही जमकर धरना प्रदर्शन किया गया। पुलिस के समझाने पर भी जब हिन्दू संगठनों के कार्यकर्ता व व्यापारी नहीं माने तो पुलिस ने बड़ी संख्या में हिंदू संगठन के लोगों व व्यापारियों की गिरफ्तारियंा की।
हिंदू जागृति मंच यमुना घाटी के अध्यक्ष केशव गिरी महाराज को पुलिस ने नौगांव से गिरफ्तार किया और बडकोट थाने लेकर गई। पुलिस ने होटल एसोसिएशन के अध्यक्ष सोहन सिंह राणा सहित बड़ी संख्या में लोगों को गिरफ्तार किया साथ ही रूद्रसेना के सस्थापक राकेश तोमर उत्तराखण्डी व बजरंग दल के लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार किया। हालांकि गिरफ्तारी के बाद केशव महाराज का कहना है हम नौगांव में महापंचायत करने के लिए करने की योजना बना रहे थे लेकिन पुलिस द्वारा हमे गिरफ्तार किया गया। केशव गिरी महाराज ने सभी हिंदू संगठनों और व्यापारियों से 25 जून को बड़कोट में महापंचायत करने का आह्वान किया है। धरने की वजह से करीब ढाई घंटे तक पुरोला बफकोट मार्ग बंद रहा।
बता दें कि आज पुरोला में महापंचायत होनी थी लेकिन धारा 144 लगने से महापंचायत को अनिश्चितकाल के लिए स्थगित किया गया था। जिसके बाद व्यापारिक संगठनों के लोगों ने पूरी यमुना घाटी जिसमे बड़कोट, नौगांव डामटा, पुरोला मोरी के बाजारों को बंद रखने का निर्णय गया और जिसका असर दिखाई भी दिया है। यमुना घाटी के संपूर्ण बाजारों के व्यापारिक प्रतिष्ठान पूरी तरीके से बंद है। बाजारों में सन्नाटा पसरा रहा वही पुरोला तहसील क्षेत्र के अंतर्गत धारा 144 लगाई गई है और चप्पे—चप्पे पर पुलिस और प्रशासन की पैनी नजर है।
विदित हो कि पुरोला में बीते 26 मई को मुस्लिम समुदाय के युवक द्वारा नाबालिग लड़की को भगाने का प्रयास किया गया था। इस घटना के बाद लोगों ने सड़कों पर उतर कर जुलूस प्रदर्शन निकाले और बाजार बंद रखे। मामले में दो आरोपियों को जेल भेजा गया। इस बीच कुछ दिन पहले पुरोला में मुस्लिम समुदाय के लोगों की दुकानों के आगे महापंचायत संबंधी धमकी भरे पोस्टर चस्पा कर दिए गए थे। जिसके चलते कई लोग पुरोला छोड़ चुके है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here