चंबा व नई टिहरी के भू-धसाव का भी आकलन हो: किशोर

0
49


जिला प्रशासन से क्षेत्राीय विधायक ने की अपील

नई टिहरी। जोशीमठ का भू धसाव की घटना से पूरे पहाड़ पर आपदा का संकट गहराता जा रहा है राज्य के कई जिलों और क्षेत्रों से अब इस तरह की घटनाएं सामने आ रही हैं। नई टिहरी और चंबा में भी भू धसाव की घटनाओं के मद्देनजर क्षेत्रीय विधायक किशोर उपाध्याय ने जिला प्रशासन से स्थिति के आकलन की मांग की है।
उनका कहना है कि टिहरी बांध की पेरा फेरी में बसे कई गांवों में मकानों में दरारे आ रही है उनका कहना है कि चंबा और नई टिहरी जैसे शहरों की सहनीय क्षमता का भी आकलन किया जाना चाहिए क्योंकि यहां भी आबादी का दबाव बढ़ रहा है। उनका कहना है कि चंबा में सुरंग निर्माण के कारण भी आसपास के क्षेत्र में कुछ समस्याएं सामने आई हैं टिहरी बांध के आसपास बसे कई गांवों में मकानों में दरारें आने की शिकायतें मिली हैं जिसके कारण जिला प्रशासन को इसके आकलन की जरूरत है।
उनका कहना है कि नई टिहरी के बुराड़ी क्षेत्र में कोई सीवर सिस्टम नहीं है जिसका प्रभाव शहर के मकानों पर पड़ सकता है। मकानों में दरारों का कारण कोई भी रहा हो लेकिन जिला प्रशासन को इनका आकलन अवश्य करना चाहिए जिससे अन्य किसी शहर या गांव में वैसे हालात पैदा न हो जैसे कि जोशीमठ में हुए हैं उन्होंने जिला प्रशासन से नई टिहरी और चंबा तथा झील के आसपास बसे गांवों में स्थिति का आकलन करने की मांग की है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here