ह्यूमन ट्रैफिकिंग गैंग का पर्दाफाश, महिला सहित छह गिरफ्तार

0
249

  • गैंग के सरगना की पत्नी फरार, तलाश जारी

हरिद्वार। ऑप्ररेशन स्माइल के तहत पुलिस ने ह्यूमन ट्रैफिकिंग के बड़े रैकेट का पर्दाफाश करते हुए गैंग के सरगना, एक महिला सहित छह लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। गैंग के सरगना की पत्नी व उसकी मुख्य सहयोगी फरार है जिसकी तलाश जारी है। पुलिस ने आरोपियों के कब्जे से दो नाबालिग बहनो को भी बरामद किया है जिन्हे प्रोस्टीट्यूशन के दलदल में उतारे जाने की तैयारी थी।
वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक प्रमेन्द्र डोबाल ने बताया कि “ऑपरेशन स्माइल” के तहत पुलिस को संजय नगर टिबडी स्थित एक मकान में संदिग्ध गतिविधियंा होने की सूचना मिली थी। सूचना पर गम्भीरता पूर्वक संज्ञान लेते हुए पुलिस ने आज सुबह 2 मासूम नाबालिक लड़कियों (उम्र क्रमशः 17 व 14 वर्ष) को ह्यूमन ट्रैफिकिंग के धंधे में जाने से ठीक पहले बचाते हुए इस गोरखधंधे के मास्टरमाइंड व एक महिला तथा 4 दलालों को दबोचने में सफलता हासिल की है। बताया कि गैंग के मुख्य सरगना व उसकी पत्नी यहंा किराए का कमरा लेकर रह रहे थे। जहां पिछले कुछ दिनों से उन्होंने अपने साथ 2 नाबालिक लड़कियों को रखा हुआ था। पुलिस ने औचक छापेमारी की तो पता चला कि दोनों नाबालिक आपस में बहने हैं और अपने घर (प्रयागराज) से भागकर दिल्ली आयी थी जहां मुख्य आरोपी आलोक ने उन्हे नौकरी लगाने का झांसा दिया और अपने साथ टिबड़ी स्थित अपने कमरे पर ले आया। दंपत्ति ने लड़कियों को धंधे के लिए तैयार रहने के लिए कहकर हर दिन दस हजार रुपए देने की बात कही थी। पूछताछ में पता चला कि आरोपी आलोक की पत्नी कुछ दलालों से बातचीत कर सौदा फाइनल करने के लिए बाहर गयी हुई है।
जिस पर पुलिस ने जाल बिछाते हुए आलोक को साथ लेकर सौदा करने आ रही दूसरी पार्टी की घेराबंदी शुरू की और चंडीघाट पूल के पास से सेंट्रो कार में सवार महिला आरोपी सहित लड़कियों का सौदा करने आए प्रवीण, रामकुमार, अनश व अनवर अंसारी को हिरासत में लिया। बताया कि पुलिस अब आलोक की फरार पत्नी की तलाश में जुटी हुई है। बताया कि गिरफ्त में आए आरोपियों से की गई पड़ताल में प्रारम्भिक तौर पर जानकारी मिली है कि आरोपी आलोक इस गिरोह को समय—समय पर लड़किया और महिलाएं सप्लाई करता था जिन्हे गिरोह सस्ते दामों में खरीद कर या तो आगे बेच दिया जाता था या पैसे लेकर शादी करवा दी जाती थी। पुलिस ने सभी आरोपियों के खिलाफ पोक्सो सहित अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया है। वहीं पुलिस द्वारा नाबालिक युवतियों के घर से सम्बन्धित थाने से सम्पर्क करने पर जानकारी मिली कि परिजनों की शिकायत पर प्रयागराज में गुमशुदगी दर्ज कर उत्तर प्रदेश पुलिस द्वारा दोनों बालिकाओं की तलाश की जा रही थी। सूचना मिलने पर बालिकाओं के परिजन भी हरिद्वार पहुंच चुके हैं। गिरफ्तार आरोपियों के नाम आलोक पुत्र सुरेश चंद्र शुक्ला निवासी फरुखाबाद, प्रवीण पुत्र जय भगवान निवासी बिजनौर,पूजा पत्नी सतीश सकलानी निवासी थापा गली निकट ग्रीन वैली स्कूल सेलाकुई देहरादून, रामकुमार पुत्र भीम सिंह निवासी गाजियाबाद अनश पुत्र मेहबूब निवासी बिजनौर व अनवर अंसारी पुत्र सलीम अंसारी निवासी फरुखाबाद बताये जा रहे है। आरोपियों के पास से पुलिस ने एक सेंट्रो कार व छह मोबाइल भी बरामद किये है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here