स्वास्थ्य सेवाओं में उत्तराखंड दूसरे स्थान पर

0
567

स्वास्थ्य मंत्री ने किया राज्य की स्वास्थ्य सेवाओं में सुधार का दावा

देहरादून। भले ही उत्तराखंड राज्य की स्वास्थ्य सेवाओं पर अनेक सवाल उठाए जाते रहे हो लेकिन सरकारी मानकों के अनुसार राज्य की स्वास्थ्य सेवाएं बेहतर से भी बेहतर है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री के साथ आज हुई सभी राज्यों के स्वास्थ्य मंत्रियों की बैठक में उत्तराखंड राज्य स्वास्थ्य सेवाओं की रैंकिंग में दूसरे नंबर पर रहा है। स्वास्थ्य मंत्री धन सिंह रावत ने आज इसे राज्य की एक और बड़ी उपलब्धि बताते हुए इस पर खुशी जताई है।
स्वास्थ्य सेवाओं की राज्यवार रैंकिंग के लिए कई कैटेगरी बनाई गई थी जिसमें पांच करोड़ से कम आबादी वाले राज्यों में उत्तराखंड को दूसरा स्थान प्राप्त हुआ है, वहीं छत्तीसगढ़ को प्रथम स्थान दिया गया है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया द्वारा आज देश के सभी राज्यों के स्वास्थ्य मंत्रियों के साथ की गई बैठक में धन सिंह रावत ने भी भाग लिया।
इस आशय की जानकारी देते हुए स्वास्थ्य मंत्री धन सिंह रावत ने कहा कि राज्य बनने के बाद राज्य की स्वास्थ्य सेवाओं में अमूलचूल सुधार आया है। उन्होंने कहा कि आज राज्य में 1131 स्वास्थ्य केंद्र और 3434 हेल्थ वैलनेस सेंट्रल काम कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि हमने टीबी मुक्त राज्य बनने का बड़ा काम किया है। राज्य बनने के बाद स्वास्थ्य सेवाओं के साथ, स्वास्थ्य को लेकर लोगों में जागरूकता बढ़ी है, योगा और व्यायाम के लाभ के बारे में लोग जागरूक हुए हैं।
यहां यह भी उल्लेखनीय है कि राज्य की विषम भौगोलिक परिस्थितियों के कारण दुर्गम स्थानों पर स्वास्थ्य सेवाओं को पहुंचाना एक चुनौतीपूर्ण काम रहा है लेकिन नेशनल हेल्थ मिशन के जरिए राज्य को जो सहायता मिली है उससे स्वास्थ्य सेवाओं में सुधार आया है। वही कोरोना काल में जरूरतों के अनुरूप स्वास्थ्य सेवाओं में विकास हुआ है। नए मेडिकल कॉलेज और एम्स राज्य में बने हैं। उन्होंने कहा कि पड़ोसी राज्य हिमाचल और जम्मू कश्मीर जैसे राज्यों को पीछे छोड़ते हुए उत्तराखंड को दूसरा स्थान मिलना एक बड़ी उपलब्धि है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here