ज्ञानी रघबीर सिंह बने अकाल तख्त के नए जत्थेदार

0
199


अमृतसर। शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक समिति (एसजीपीसी) ने शुक्रवार को ज्ञानी रघबीर सिंह को अकाल तख्त का नया जत्थेदार नियुक्त किया। उन्होंने ज्ञानी हरप्रीत सिंह की जगह ली है। एसजीपीसी को सिखों का ‘मिनी संसद’ कहा जाता है। यहां एसजीपीसी कार्यकारिणी की आपात बैठक में रघबीर सिंह को नया जत्थेदार नियुक्त करने का फैसला किया गया। ज्ञानी हरप्रीत सिंह हालांकि बठिंडा में तख्त दमदमा सहिब के जत्थेदार बने रहेंगे। एसजीपीसी प्रमुख हरजिंदर सिंह धामी ने यहां मीडियाकर्मियों को संबोधित करते हुए कहा कि अकाल तख्त के कार्यवाहक जत्थेदार ज्ञानी हरप्रीत सिंह ने स्वयं इस पद से हटने की इच्छा जाहिर की थी। धामी ने कहा, ”हमारी कार्यकारिणी की बैठक में हमने फैसला किया कि ज्ञानी हरप्रीत सिंह तख्त दमदमा साहिब के जत्थेदार बने रहेंगे।” उन्होंने कहा कि ज्ञानी रघबीर सिंह को अकाल तख्त का जत्थेदार नियुक्त किया गया है। ज्ञानी हरप्रीत सिंह 2018 से अकाल तख्त के जत्थेदार का प्रभार संभाल रहे थे। वह पंजाब के बठिंडा में तलवंडी साबो में सिखों के एक अन्य तख्त दमदमा साहिब का नियमित प्रभार भी संभाल रहे थे। दिल्ली में आम आदमी पार्टी (आप) के सांसद राघव चड्ढा और अभिनेत्री परिणीति चोपड़ा की सगाई कार्यक्रम में ज्ञानी हरप्रीत सिंह की उपस्थिति ने पिछले महीने एक विवाद खड़ा कर दिया था। शिरोमणि अकाली दल (शिअद) के नेता विरसा सिंह वल्टोहा ने कार्यक्रम में सिंह की उपस्थिति का विरोध किया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here