धामी को धन वर्षा की उम्मीद

0
157

  • लंदन दौरे के दौरान मिले 12 हजार करोड़ के निवेश प्रस्ताव
  • बोले अभी तो शुरुआत है 2 लाख करोड़ के पार जाएंगे

नई दिल्ली। राजधानी दून में 8—9 दिसंबर को आयोजित होने वाले इन्वेस्टर्स समिट को लेकर मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी उत्साहित ही नहीं है अपितु उनकी सोच है कि इस समिट से उत्तराखंड में विकास के नए दरवाजे खुलेंगे। अपने तीन दिवसीय लंदन दौरे से लौटे सीएम धामी ने आज एक पत्रकार वार्ता में कहा कि उनका लंदन दौरा सफल रहा। उन्होंने लंदन वासियों को अपने अभिनंदन और सहयोग के लिए आभार भी जताया।
मुख्यमंत्री ने बताया कि अपने लंदन दौरे के दौरान लगभग 1250 करोड रुपए के निवेश प्रस्ताव विभिन्न कंपनियों से मिले हैं अब तक कुल 20 हजार करोड़ के निवेश के प्रस्तावों पर एमओयू साइन किये जा चुके हैं। लंदन में 12 हजार करोड़ के एमओयू साइन किए जाने पर उन्होंने संतुष्टि जाहिर करते हुए कहा कि अभी इस ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट के बारे में लोगों को ठीक से जानकारी भी नहीं है अभी तो शुरुआत है इससे एक सप्ताह पूर्व दिल्ली में उन्होंने इसकी शुरुआत 7 हजार करोड़ के एमओयू साइन करने से की गई थी। उन्होंने कहा कि लंदन की अनेक कंपनियों ने उत्तराखंड में निवेश करने में रुचि दिखाई है।
मुख्यमंत्री ने एक सवाल के जवाब में कहा कि लंदन जाकर उन्हें इस बात का एहसास हुआ कि अब विश्व के दूसरे देश भारत के बारे में कैसे सोचते हैं विश्व भर में भारत की छवि बदली है। उन्हें इंग्लैंड में रह रहे उत्तराखंड के लोगों से मिलकर लगा कि वह इंग्लैंड नहीं उत्तराखंड में ही है भाषा अपनी, बोली अपनी, पहनावा अपना। उन्होंने कहा कि पर्यटन के विकास के लिए इंग्लैंड के पर्यटन मंत्री से उनकी सार्थक बातचीत हुई है। उन्होंने कहा कि हम चाहते हैं कि विदेशों से आने वाले पर्यटकों को उत्तराखंड आकर ऐसा नहीं लगना चाहिए कि वह कहां आ गए यहां भी वह अपने देश जैसी सुरक्षा और सहजता महसूस करें। एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि उन्हें पर्यटन के क्षेत्र में निवेश के प्रस्ताव सबसे ज्यादा मिल रहे हैं। होटल, साहसिक पर्यटन, रोपवे, क्या किंग, नौका विहार आदि क्षेत्रों में लोगों की ज्यादा रुचि है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि अब तक हमारे प्रदेश में उघोगों का दायरा दूंन, हरिद्वार और उधमसिंह नगर तक ही सीमित रहा है लेकिन उन्हें उम्मीद है कि आने वाले समय में राज्य के बाकी सभी 9 पर्वतीय जिलों तक उघोग पहुंचेंगे तथा विकास और रोजगार के नए दरवाजे खुलेंगे। उन्होंने कहा कि हमने अपनी औघोगिक नीतियों में बड़ा बदलाव किया है। हमने ऐसी 27 प्रमुख बातें इन नीतियों में शामिल की है जो निवेश को भरोसे की गारंटी देती है। उन्होंने कहा कि हमने सिंगल विंडो सिस्टम को लागू किया है तथा इकोलॉजी और इकोनॉमी के समन्वय का प्रयास किया है। उन्होंने कहा कि इस समिट के जरिए हमें 2 लाख करोड़ से अधिक के निवेश की उम्मीद है।


सचिवालय में खुलेगा अप्रवासी उत्तराखंडी सेल

नई दिल्ली। अप्रवासी उत्तराखंडियों को अपने राज्य में निवेश करने के लिए किसी भी तरह की समस्या का सामना न करना पड़े इसके लिए बहुत जल्द ही राज्य सरकार सचिवालय में एक अप्रवासी उत्तराखंड सेल बनाने जा रही है। इसकी घोषणा आज मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी द्वारा नई दिल्ली में अपनी पत्रकार वार्ता में की गई। उन्होंने कहा कि राज्य में निवेश को लेकर कोई दिक्कत न हो इसके लिए हर संभव प्रयास किए जाएंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here