सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ वकील के घर में कुक की रस्सी से गला घोंटकर हत्या

0
383

नई दिल्ली। दिल्ली से एक चौंकाने वाला मामला सामने आया है। जंगपुरा एक्सटेंशन में सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ वकील और मेघालय सरकार के एडवोकेट जनरल अमित कुमार के घर के अंदर कुक की बेरहमी से हत्या कर दी गई। कुक की लाश मंगलवार सुबह छत पर बने सर्वेंट क्वार्टर में बेड के अंदर मिली है। मृतक के हाथ, पैर और गले में रस्सी बंधी हुई थी। पुलिस को जांच पड़ताल में पता चला कि घर में घुसे हथियार बंद बदमाशों ने वारदात को अंजाम दिया है। एक अन्य कर्मचारी भी चाकू लगने से घायल हुआ है। पुलिस ने मामले की जानकारी देते हुए बताया कि दिल्ली के बी17 जंगपुरा एक्सटेंशन में सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ वकील और मेघालय सरकार के एडवोकेट जनरल अमित कुमार परिवार के साथ रहते हैं। दो दिनों से अमित कुमार, पत्नी और बेटी के साथ दिल्ली से बाहर गए हुए थे। उनके 84 वर्षीय पिता, 23 साल का बेटा, कुक और ऑफिस ब्वॉय घर पर मौजूद थे। कुक ने रात करीब पौने नौ बजे महाधिवक्ता के पिता और बेटे को खाना दिया। अमूमन खाना देने के बाद कुक छत पर सर्वेंट क्वार्टर में चला जाता था, लेकिन उनके बेटे ने रात करीब 9.30 बजे देखा कि उसका मोबाइल दूसरी मंजिल पर रसोई में रखा है। वहां चीजें भी व्यवस्थित नहीं थी। वह दादा की देखभाल करने वाले युवक के साथ तीसरी मंजिल पर गया। दरवाजा अंदर से बंद था। दोनों दरवाजा खटखटा रहे थे कि अचानक अंदर से एक शख्स पिस्टल के साथ दिखाई दिया। इसके बाद महाधिवक्ता का बेटा पड़ोसी के पास गया और बदमाशों के बारे में जानकारी दी। कुछ देर बाद गार्ड, अंकित और बाकी लोग तीसरी मंजिल पर पहुंचे। बदमाशों ने ऑफिस ब्वॉय की पीठ पर चाकू से वार किया था और उसे चैंबर में कुर्सी से बांधा हुआ था। बदमाशों ने ऑफिस खोलने का प्रयास भी किया लेकिन सफल नहीं हो सके। इस बीच मामले की सूचना पुलिस को भी दे दी गयी थी। पुलिस मौके पर पहुंची लेकिन तब तक आरोपी फरार हो चुके थे। पुलिस ने घर पर जांच पड़ताल की लेकिन उन्हें कुक नहीं मिला। घायल ऑफिस बॉय को एम्स में भर्ती कराया गया। बीती रात इमारत की पूरी तलाशी के बाद पुलिस चली गई। मंगलवार सुबह लगभग 10.30 बजे घर पर काम करने वाले कर्मचारियों ने छत पर स्थित सर्वेंट रूम का बेड खोला तो उसमें कुक की लाश मिली। रस्सी से गला घोंटकर उसकी हत्या की गई थी। हाथ पैर भी बंधे थे। सूचना मिलने पर पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए एम्स भिजवाया। मृतक का नाम कमल बताया गया है। इस केस में महाअधिवक्ता के ही एक पूर्व कर्मचारी का हाथ होने का अंदेशा जाहिर किया गया है। उसे पिछले महीने की 15 तारीख को काम से निकाला गया था। पुलिस सीसीटीवी कैमरे की फुटेज कब्जे में लेकर भी जांच को आगे बढ़ा रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here