चारधाम व कावड़ यात्रा पर संशय बरकरार

0
289

देहरादून। भले ही उत्तराखंड के नए मुख्यमंत्री पुष्कर धामी द्वारा राज्य में शीघ्र चारधाम यात्रा शुरू करने और कावड़ यात्रा पर पड़ोसी राज्यों से वार्ता करने की बात कहीं जा रही हो लेकिन इन यात्राओं पर अभी संशय की स्थिति बनी हुई है।
मुख्यमंत्री पुष्कर धामी ने आज कहा कि राज्य में चारधाम यात्रा और पर्यटन गतिविधियों को जल्द शुरू किया जाएगा। वहीं उन्होंने 25 जुलाई से शुरू होने वाली कावड़ यात्रा के बारे में कहा कि यूपी और हरियाणा के मुख्यमंत्रियों से इस बाबत बातचीत चल रही है और जल्द ही हालात के अनुरूप इसका फैसला किया जाएगा।
उल्लेखनीय है की निवर्तमान मुख्यमंत्री तीर्थ रावत के समय में चारधाम यात्रा पर रोक लगा दी गई। हाई कोर्ट में सरकार द्वारा यात्रा प्रबंधों से असंतुष्टी जाहिर करते हुए लगाई गई रोक पर सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में रिव्यु पिटीशन दायर करने की बात कही थी लेकिन सूबे में एक बार फिर सत्ता परिवर्तन के कारण यह मामला अभी तक अधर में लटका है। सरकार सुप्रीम कोर्ट जाएगी या फिर हाईकोर्ट में ही दोबारा यात्रा शुरू करने की अपील दायर करेगी इस पर फैसला अभी नहीं लिया गया है जिसके कारण चारधाम यात्रा शुरू होने पर अभी भी संशय बरकरार है।
25 जुलाई से शुरू होने वाली कावड़ यात्रा की भी अभी तक कोई तैयारी नहीं की गई है। हालांकि पड़ोसी राज्य उत्तर प्रदेश में आज कावड़ यात्रा शुरू करने के आदेश हुआ यात्रा के लिए एसओपी जारी कर दी गई है। लेकिन उत्तराखंड सरकार अभी इस पर भी कोई फैसला नहीं ले सकी है। सीएम धामी का कहना है कि कावड़ यात्रा पर यूपी के मुख्यमंत्री से वार्ता कर चुके हैं तथा हरियाणा के मुख्यमंत्री से भी वार्ता कर जल्द निर्णय लेंगे। कोरोना की तीसरी लहर के खतरे के मद्देनजर धामी सरकार किसी तरह का जोखिम लेने के मूड में नहीं है। पंजाब, हरियाणा और उत्तर प्रदेश से बड़ी संख्या में कांवड़ लेकर श्रद्धालु उत्तराखंड आते हैं। अगर सरकार कावड़ यात्रा शुरू करना नहीं चाहती है तो इसके लिए भी उसे पड़ोसी राज्यों के कांवड़ियों को रोकना बड़ी चुनौती होगा खबर यह भी है कि मुख्यमंत्री ने यूपी व हरियाणा के मुख्यमंत्रियों से श्रद्धालुओं को उत्तराखंड न आने देने पर बात की है। हालांकि यूपी और हरियाणा के मुख्यमंत्रियों से वार्ता के बाद सरकार क्या निर्णय लेगी यह अभी निश्चित नहीं है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here