70 लाख की फिरौती मांगने व हत्या में शामिल दो गिरफ्तार

0
84

हरिद्वार। लैब संचालक की मां से 70 लाख की फिरौती मांगने व उसकी हत्या कर शव को बोरे में छुपाने वाले दो लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार कर शव बरामद कर लिया।
आज यहां इसकी जानकारी देते हुए एसएसपी अजय सिंह ने बताया कि गत दिवस शिवमंदिर चौक बहादराबाद निवासी प्रेमचन्द द्वारा थाना बहादराबाद मे आकर प्रार्थना पत्र देते हुए बताया कि उनका पुत्र कार्तिक कुमार की रामधाम कालोनी रानीपुर मे अनिका पैथोलोजी नामक लैब है। उनका पुत्र 12 जनवरी को सुबह अपनी पैथोलोजी मे गया था लेकिन 24 घंटे से ज्यादा होने पर भी वापस नही लौटा। पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी। पुलिस को जानकारी मिली कि कार्तिक के मोबाइल से कार्तिक की मां अंगूरी देवी को एक काल आयी। जिसमे अज्ञात कॉलर द्वारा कार्तिक की मां से कार्तिक की जान सलामती के लिए 70 लाख फिरोती देने व इस सम्बन्ध में पुलिस को न बताने की चेतावनी दी गई। विभिन्न पहलुओं पर जांच कर रही पुलिस टीम को जानकारी मिली कि कार्तिक द्वारा 13 जनवरी को कुल तीन ट्रांजेक्शन किये गये। उक्त ट्रांजेक्शन शराब के ठेके, मुरादाबादी बिरयानी सेन्टर व कृष्णा ट्रेडर्स से होने की जानकारी मिलते ही सम्बन्धित स्थानों की सीसीटीवी फुटेज टटोलने पर एक लाल जैकेट पहना हुआ स्कूटी सवार लडका मोबाइल बारकोड से पैसे ट्रांसफर करते हुये दिखा। लाल जैकेट पहने लड़के की पहचान पैथोलोजी लैब मे सेम्पल लेने का काम कर निपेन्द्र के रूप में हुई। सख्ती से पूछताछ करने पर संदिग्ध निपेन्द्र ने लैब मे कार्यरत शहादत अली के साथ हत्या को अंजाम देने की बात स्वीकारते हुए मृतक कार्तिक का शव शहादत के दादुपुर स्थित किराये के कमरे मे छिपाना स्वीकार किया गया। निपेन्द्र व शहादत की निशादेही पर किराए के कमरे के बाथरुम से शव बरामद किया गया। मृतक की पैथोलोजी लैब में पिछले 8 माह से उक्त लैब मे सेम्पलिंग का कार्य कर रहे शहादत अली व पिछले 03 माह से काम कर रहे निपेन्द्र ने माता पिता के इकलौते पुत्र मृतक कार्तिक के माता—पिता का लगभग 70 से 80 लाख रुपये का मकान होने की जानकारी मिलने पर सारी वारदात का तानाबाना बुना। पुलिस ने दोनों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here