लिफ्ट देकर लूट की घटनाओं को अंजाम देने वाले दो गिरफ्तार

0
152

देहरादून। राह चलते लोगों को लिफ्ट देने के बहाने लूट की घटना को अंजाम देने वाले दो लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार कर उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज कर उनको न्यायालय में पेश किया जहां से उनको न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया।
आज यहां इसकी जानकारी देते हुए वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक दलीप सिंह कुवंर ने बताया कि लोकेन्द्र कुमार पुत्र चेतराम सिंह निवासी ग्राम पित्थापुर थाना स्योहारा जिला बिजनौर उत्तर प्रदेश द्वारा थाना डोईवाला पर आकर एक रिपोर्ट दर्ज कराई कि वह कल दिनांक 06/10/22 की रात्रि बिजनौर से देहरादून के लिए चला था। जब वह हरिद्वार पहुंचा और स्टेशन के बाहर बस का इंतजार करने लगा तो उसको एक व्यक्ति ग्रे कलर की आई 20 कार के साथ मिला और कहने लगा कि वहं उसको बस के किराये पर छोड देगा। उस कार में देहरादून जाने वाली एक सवारी पहले से ही बैठी थी,ं वह भी उस कार में बैठ गया। जब हम लालतप्पड से करीब 02 किमी आगे चले तो चालक ने हाईवे से लिंक रोड की तरफ मोड लिया एकांत में ड्राईवर ने गाडी रोक दी पीछे बैठे व्यक्ति ने उसके सिर पर वार कर उसकी जेब से 600 रूपये व एटीएम कार्ड निकाल लिया उसे एकांत में छोडकर भाग गये। वहीं थाना रानीपोखरी में भी वादिनी बबीता पंवार निवासी भटृ नगरी खाला रानीपोखरी के साथ भी रात्रि में एक प्राईवेट कम्पनी से काम के बाद घर लौटने के दौरान भानियावाला तिराहा पर कार सवार ने उसको लिफ्ट दी और रास्ते में उससे रूपये लूट लिये। पुलिस ने दोनों मुकदमें दर्ज कर लिये। पुलिस ने दो टीमों का गठन किया। गठित टीमों के द्वारा घटना को अंजाम देने वाले मनीष रावत पुत्र सुरेन्द्र सिह रावत निवासी वर्तमान पता लोअर तुनवाला, इन्द्रजीत सिंह बाजवा पुत्र गुरदीप सिह बांजवा वर्तमान निवासी एकता विहार कालोनी मोहक्मपुर को गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ में उन्होंने बताया कि मनीष रावत पूर्व में टैक्सी ड्राईवर था तथा इन्द्रजीत पहले अमेरिका में रहता था, 2016 दिल्ली आ गया था पिछले दो साल से देहरादून में अपनी पत्नी के साथ किराये में रहा था। इन्द्रजीत ने मियांवाला शराब ठेके के पास चिकन पकौडे की ठेली लगायी, वही उसकी मुलाकात मनीष रावत से हुयी। दोनो नशा करने के आदी थे, इसलिए दोनो मे दोस्ती हो गयी। बेरोजगार होने पर दोनों ने लूट की योजना बनायी थी। पुलिस ने दोनों के कब्जे से लूट के मोबाइल व ऐयर पिस्टल बरामद कर उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज कर उनको न्यायालय में पेश किया जहां से उनको न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here