दुष्कर्म मामले का कांवड़ यात्रा से नहीं है कोई सम्बन्धः एसएसपी

0
96

दुष्कर्म मामले में दो गिरफ्तार, भेजा जेल

हरिद्वार। गंगनहर पुलिस को बेहोश हालत में मिली महिला के साथ हुए दुराचार मामले में अब एक नया मोड़ आ गया है। पुलिस का कहना है कि प्रकरण में जो कांवड़ यात्रा के दौरान दुराचार की बात कही गयी थी वह असत्य है। महिला अपने एक जानकार के माध्यम से आरोपी से मिली थी जिन्होने नौकरी दिलवाने के नाम पर उसके साथ दुष्कर्म की वारदात को अंजाम दिया था। मामले में पुलिस ने दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। विदित हो कि बीते शनिवार यानि दो दिन पूर्व गंगनहर कोतवाली पुलिस द्वारा गणेशपुर स्थित अस्पताल वाली गली से एक महिला को बेहोशी की हालत में बरामद किया गया था। जिसे अस्पताल में भर्ती कराया गया। होश में आने पर महिला द्वारा पुलिस को बताया गया था कि वह कांवड़ यात्रा के दौरान हरिद्वार आयी थी। इस दौरान मोबाइल रिचार्ज कराने के लिए जब वह रूड़की बस स्टैण्ड पर पहुंची तो उसे वहंा एक गैर समुदाय का युवक मिला। जो उसे मोबाइल रिचार्ज कराने के बहाने घर ले गया। आरोप था कि वहां युवक ने उसे गलत काम करवाने का दबाव बनाया और उसे नशा देकर उसके साथ दुष्कर्म किया। जिसमें उसकी पत्नी ने भी उसका सहयोग किया। मामले की गम्भीरता को देखते हुए पुलिस ने आरोपी शाकिब निवासी रेलवे स्टेशन रोड व उसकी पत्नी खुशी उर्फ आयशा के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी गयी। मामले में पुलिस ने जांच के दौरान जब महिला के पति को बुलाया तो उसने बताया कि महिला कुछ दिन पूर्व अपनी जान पहचान के नदीम के साथ गाजियाबाद से काम के सिलसिले में हरिद्वार के रुड़की गंगनहर क्षेत्र में आयी थी। जहंा नदीम ने उसे अपने परिचित शाकिब से मिलवाया गया। जहां शाकिब द्वारा महिला/पीड़िता का शारीरिक शोषण किया गया है। पुलिस जांच में यह तथ्य भी सामने आये कि यह मामला ह्यूमन ट्रैफिंिकंग का है। जिस कारण इस मामले में देह व्यापारी अधिनियम के धाराये भी जोड़ी गयी। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अजय सिंह ने बताया कि इस समूचे प्रकरण का कांवड़ मेला से कोई सम्बन्ध नहीं है। इस मामले में महिला के परिचित नदीम व उसके दोस्त शाकिब का दुष्कर्म व देह व्यापार की धाराओं में गिरफ्तार कर लिया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here