बयानवीर ही साबित हो रहे जिले के पुलिस अधिकारी

0
392

मंदिर के बाहर भीख मांगते गरीब, कहां गये कार्यवाही करने के दावे

देहरादून। दून के पुलिस कप्तान ने बयान जारी किया था कि मन्दिरों के बाहर भिखारी दिखायी दिये तो चौकी थाना पुलिस पर कार्यवाही होगी। लेकिन यहां तो मन्दिर के बाहर और अन्दर दोनों तरफ भिखारी भीख मांगते दिखायी दे रहे हैं तो फिर कार्यवाही क्या हुई इसका पता नहीं है।
गत दिवस शिवरात्रि पर्व की तैयारियों पर आदेश जारी करते हुए डीआईजी/एसएसपी देहरादून ने यह बयान जारी किया था कि अगर मन्दिरों के बाहर भिखारी दिखायी दिये तो चौकी थाना प्रभारियों पर कार्यवाही होगी। पुलिस कप्तान के आदेश के बाद कुछ थाना चौकी प्रभारी तो हरकत में आये और उन्होंने अपने क्षेत्र में पडने वाले मन्दिरों के बाहर से भिखारियों को वहां से हटाकर वहां पर पुलिसकर्मियों की डयूटी लगा दी लेकिन अधिकांश थाना चौकी प्रभारियों ने पुलिस कप्तान के आदेश मात्र बयानबाजी ही माना और वह अपने पुराने ढर्रे पर ही चलते रहे जिसके चलते उनके क्षेत्र में मन्दिरों के बाहर व अन्दर भिखारी भीख मांगते हुए दिखायी दिये। यह पुलिस अधिकारियों के आदेशों की धज्जियां उडाना नहीं है तो फिर क्या है? अब देखने वाली बात है कि पुलिस अधिकारी ऐसे चौकी थाना प्रभारियों के खिलाफ क्या कार्रवाही करते हैं यह अपने आप में एक सवाल है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here