खाद्य विश्लेषण प्रयोगशाला रुद्रपुर द्वारा जांच में पनीर के सैंपल हुए फेल

0
464

रुद्रपुर। जिला खाद्य संरक्षा अधिकारी श्री पीसी जोशी द्वारा बताया है कि पिछले सप्ताह में एफडीए देहरादून की टीम द्वारा उपायुक्त गढ़वाल मंडल एवं जिला अधिकारी देहरादून के निर्देशानुसार मिल्क प्रोडक्ट की क्वालिटी जांच हेतु विशेष अभियान चलाया गया था । पर्यटक सीजन के कारण पनीर दूध आदि प्रोडक्ट की डिमांड बढ़ जाती है जिसके कारण सहारनपुर आदि क्षेत्रों से कुछ ट्रांसपोर्टरों में द्वारा प्राइवेट कार में सस्ते दाम में₹200 प्रति किलोकी दर से घटिया पनीर सप्लाई किया जा रहा था जबकि 5 किलो दूध में लगभग 1 किलोग्राम पनीर ही बनता है एफडीए देहरादून द्वारा अभियान चलाकर पनीर 8 नमूने एवं मावे के 2 नमूने क्वालिटी जांच हेतु गवर्नमेंट लैब रुद्रपुर में भेजें जिसकी जांच रिपोर्ट में पनीर के 8नमूने मे फॉरेन फैट ( मिल्क फैट के अतिरिक्त अन्य सिंथेटिक फैक्ट से बनाया गया होना पाया गया है) और और और असुरक्षित घोषित किया गया है और मावे के 2 सैंपल सब स्टैंडर्ड पाए गए हैं जो मानक के अनुरूप नहीं है एफडीए की टीम द्वारा कार्रवाई करते हुए लगभग 12 00 किलोग्राम (12 कुंटल) नकली पनीर को बाजार मे विक्रय होने से पहले ही जेसीबी की सहायता नष्ट करा दिया गया था और पनीर के नमूना परीक्षण हेतु गवर्नमेंट लैब में भेजे गए थे और लैब की रिपोर्ट के आधार पर डेरी प्रोडक्ट ट्रांसपोर्टरों के विरुद्ध खाद्य सुरक्षा मानक अधिनियम 2006के तहत वैधानिक कार्रवाई करते हुए धारा 46 के तहत नोटिस जारी कर दिया गया है देहरादून में दूध का प्रोडक्शन बहुत कम है शहर के कई डेरी संचालक सही डेरी प्रोडक्ट विक्रय करना चाहते हैं और कुछ घटिया मिल्क प्रोडक्ट कम दामों में खरीद कर अधिक मात्रा में विक्रय कर अधिक मुनाफा करना चाहते हैं और कुछ रेस्टोरेंट डेरी वेडिंग पॉइंट कम दाम का ही माल खरीदना चाहते हैं लेकिन उस से होने वाले नुकसान की उन्हें सही जानकारी नहीं है और उससे सही प्रोडक्ट बेचने वाले व्यापारी का कारोबार भी प्रभावित होता है और एफडीए द्वारा ऐसे व्यापारियों की पहचान की जा रही है और कई व्यक्तियों द्वारा आपसी रंजिश के कारण फर्जी शिकायतें भी भेजी रही हैं लेकिन किसी को अनावश्यक परेशान भी नहीं किया जाएगा और जो लोग नियम के तहत कार्य नहीं करेंगे इन पर कड़ी वैधानिक कार्रवाई की जाएगी डेरी प्रोडक्ट के जानकारी हेतु एक दिवसीय फूड सेफ्टी ट्रेनिंग प्रोग्राम भी चलाया जाएगा पिछले महीने में देहरादून शहर की 40 डेयरी संचालकों की फूड सेफ्टी ट्रेनिंग फूड सेफ्टी स्टैंडर्ड अथॉरिटी ऑफ इंडिया के ट्रेनिंग कार्यक्रम का प्रशिक्षण दिया गया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here