लीबिया में डेनियल तूफान ने मचाई तबाही, सड़कों पर दिखे लाशों के ढेर

0
220


नई दिल्ली। लीबिया के दर्ना शहर में तूफान डेनियल के चलते हुई मूसलाधार बारिश के कारण बाढ़ की स्थिति उत्पन्न हुई। जिसने पहले ग्रीस, बुल्गारिया और तुर्की में तबाही मचाने के बाद लीबिया में दस्तक दी। लीबियाई टीवी पर फुटेज में दर्ना के मुख्य चौराहे पर कंबल या चादर में लिपटे दर्जनों शव दिखाई दे रहे हैं, जिनकी शिनाख्त होनी बाकी है। वहीं दक्षिण-पूर्व में मार्टौबा गांव में शवों के ढेर लगे हुए हैं। विनाशकारी बाढ़ के चलते अभी तक 2300 लोगों की मौत की पुष्टि हो चुकी है। आपातकालीन सेवाओं ने जानकारी देते हुए कहा कि मरने वालों की संख्या कहीं अधिक होने की आशंका है। इस खतरनाक तूफान में लगभग 100,000 लोगों के घर तबाह हो गए। भूमध्यसागरीय तटीय शहर दर्ना में बाढ़ के चलते भारी विनाश हुआ, जहां नदी के किनारे पर बहुमंजिला इमारतें ढह गईं और घर और कारें पानी के तेज बहाव में बह गईं। अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मान्यता प्राप्त सरकार के तहत आपातकालीन सेवाओं ने अकेले दर्ना में 2,300 से अधिक की प्रारंभिक मृत्यु की सूचना दी और कहा कि 5,000 से अधिक लोग लापता हैं जबकि लगभग 7,000 घायल हुए हैं ।
इंटरनेशनल फेडरेशन ऑफ रेड क्रॉस एंड रेड क्रिसेंट सोसाइटीज़ के टैमर रमदान ने कहा, मृत्यु संख्या बहुत बड़ी है और हजारों तक पहुंच सकती है। उन्होंने कहा कि करीब 10 हजार लोग लापता हैं। लीबिया के पूर्व में कहीं और, सहायता समूह नॉर्वेजियन रिफ्यूजी काउंसिल ने कहा, पूरे गांव बाढ़ से डूब गए हैं और मरने वालों की संख्या लगातार बढ़ रही है। इसके अलावा कहा कि पूरे लीबिया में समुदायों ने वर्षों से संघर्ष, गरीबी और विस्थापन को सहन किया है। नई आपदा इन लोगों की स्थिति को और खराब कर देगी। अस्पतालों और आश्रयों पर अत्यधिक दबाव पड़ेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here