हमारी जमीन ले लो लेकिन कश्मीर में अल्पसंख्यकों को सुरक्षा दो: मौलवी

0
361

अनंतनाग। कश्मीर में लगातार हो रही टारगेट किलिंग के बाद अनंतनाग के एक मौलवी ने ऐसा बयान दिया है जिसकी तारीफ हो रही है। प्रमुख मौलवी ने अनंतनाग में शुक्रवार की सामूहिक नमाज के दौरान कहा कि इस्लाम अल्पसंख्यक समुदाय पर अत्याचार कर जिहाद की अनुमति नहीं देता है। मौलाना फ़याज़ अमजदी, जामिया मस्जिद अनंतनाग में एक सभा को संबोधित कर रहे थे। अल्पसंख्यक समुदाय की सुरक्षा के उनके आह्वान का मस्जिद में मौजूद स्थानीय लोगों ने जोरदार समर्थन किया। एक वीडियो के अनुसार, उन्होंने कहा कि वे अपनी जमीन देने को तैयार हैं लेकिन जम्मू-कश्मीर में अल्पसंख्यकों को सुरक्षा दी जानी चाहिए। मौलाना फ़याज़ अमजदी ने कहा कि अगर कोई मुसलमान जिहाद समझकर अल्पसंख्यकों पर अत्याचार या हत्या कर रहा है, तो हम इसकी निंदा करते हैं। उन्होंने कहा, श्अगर कोई मुसलमान यह सोचकर ऐसा कर रहा है तो यह जिहाद है, हम इस जिहाद की निंदा करते हैं। इस्लाम ने जिहाद को अल्पसंख्यक या किसी अन्य व्यक्ति पर अत्याचार करने या व्यक्ति को मारने की अनुमति नहीं दी है। मौलाना फैयाज अमजदी ने कहा कि कश्मीर में माहौल खराब नहीं होना चाहिए। मौलाना फयाज ने कहा, अल्पसंख्यकों का ध्यान रखा जाना चाहिए। हम प्रशासन से आग्रह करते हैं, हम सरकार से आग्रह करते हैं कि हम लोग यहां अल्पसंख्यकों के साथ हैं। हम अल्पसंख्यकों पर हमला करने वालों की निंदा करते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here