गाजे—बाजे के साथ देव उत्सव डोलिया रवाना

0
412

कल खुलेंगे गंगोत्री व यमुनोत्री धाम के कपाट
देव उत्सव डोलियों में श्रद्धालुओं का सैलाब

देहरादून। भले ही चारधाम यात्रा की शुरुआत कल 3 मई को अक्षय तृतीय के अवसर पर मां गंगोत्री और यमुनोत्री धाम के कपाट खुलने के साथ ही हो रही हो लेकिन आज देव उत्सव डोलियों के रवाना होने के दौरान जिस तरह का उत्साह श्रद्धालुओं में देखा गया उसे देखकर यह कहा जा सकता है कि देवभूमि कि इस विश्व विख्यात यात्रा का शुभारंभ आज से ही हो चुका है।
अपने शीतकालीन प्रवास स्थल उखीमठ के ओमकारेश्वर मंदिर से बाबा केदारनाथ की पंचमुखी चल विग्रह डोली पूरे विधि—विधान और पूजा अर्चना के बाद केदार धाम के लिए रवाना हुई। तो उधर मां गंगा की डोली अपने शीतकालीन प्रवास स्थल मुखवा से गाजे बाजे के साथ गंगोत्री धाम के लिए रवाना की गई। इस अवसर पर बड़ी संख्या में श्रद्धालुओं का जन सैलाब उमड़ पड़ा।
आज सुबह 6 बजे से ओमकारेश्वर मंदिर में पूजा अर्चना शुरू हो गई थी परंपरानुसार पहले भ्ौरव की पूजा अर्चना के बाद केदार बाबा का श्रंगार किया गया और वेद मंत्रोच्चारण के साथ बाबा केदार को पंचमुखी चल विग्रह डोली में बैठाया गया। इस अवसर पर पारंपरिक वाघों और सेना की बैंड की धुन के साथ जय जय बम भोले के नारों से वातावरण गूंज उठा। इस अवसर पर क्षेत्रीय विधायक श्ौला रानी रावत सहित सैकड़ों श्रद्धालुओं की भीड़ देखी गई। दो साल बाद शुरू होने वाली यात्रा की शुरुआत धूमधाम से हो सकी है। कोरोना के कारण बीते वर्षों में देव डोलियों में ऐसी भीड़ व उत्साह नहीं देखा गया था। बाबा केदारनाथ की डोली आज गुप्तकाशी में रात्रि विश्राम करेगी इससे अगले दिन डोली का विश्राम स्थल फाटा होगा तथा 4 मई को गौरीकुंड, 5 मई को बाबा की डोली केदारधाम पहुंचेगी तथा 6 मई सुबह 6.15 मिनट पर बाबा अपने ग्रीष्मकालीन प्रवास स्थल में गद्दी नशीन हो जाएंगे और अगले 6 माह अपने भक्तों को यहंा दर्शन के लिए उपलब्ध रहेंगे। उधर गंगोत्री धाम के कपाट कल 3 मई को 11 बज कर 55 मिनट पर खोले जाएंगे तथा मां यमुनोत्री के कपाट दोपहर 12 बज कर 15 मिनट पर खोले जाएंगे। इस अवसर पर बड़ी संख्या में श्रद्धालु मौजूद रहेंगे।
कल मां गंगोत्री व यमुनोत्री के कपाट खुलने के साथ ही चार धाम यात्रा की विधिवत शुरुआत हो जाएगी। ऋषिकेश से श्रद्धालुओं को बड़ी संख्या में गंगोत्री व यमुनोत्री धाम रवाना किया गया है आज भी गुजरात, मध्य प्रदेश और महाराष्ट्र से आए 600 से अधिक श्रद्धालुओं का जत्था गंगोत्री धाम के लिए रवाना किया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here