सीएम धामी ने केदारपुरी की तैयारियों का लिया जायजा

0
583

समय पर काम खत्म करने के निर्देश
गुणवत्ता से न किया जाए समझौता

देहरादून/रूद्रप्रयाग। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने आज केदारधाम पहुंचकर यहां चल रहे निर्माण कार्याे का स्थलीय निरीक्षण किया तथा चार धाम यात्रा की तैयारियों का जायजा लिया। इस दौरान मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश भी दिए।
राज्य में 3 मई से चारधाम यात्रा का शुभारंभ होने जा रहा है तथा 6 मई को केदारनाथ धाम के कपाट भी खुलने जा रहे हैं। संभावना यह भी जताई जा रही है कि 6 मई को प्रधानमंत्री मोदी धाम के दर्शन करने आ सकते हैं। यही कारण है कि मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने आज एक बार फिर केदार धाम में चल रहे निर्माण कार्यों का जायजा लिया। सीएम ने बाबा केदार के दर पर पहले माथा टेका और फिर मंदिर परिसर का भ्रमण कर निर्माण कार्यों को देखा। मुख्यमंत्री ने निर्माण किए जा चुके सरस्वती आस्था पद का निरीक्षण किया तथा निर्माणाधीन ब्रह्मकमल ताल और वासुकी ताल का भी निरीक्षण कर अधिकारियों को निर्माण कार्यों की गुणवत्ता से किसी भी तरह का समझौता न करने की हिदायत दी थी।
मुख्यमंत्री ने निर्माण के कारण इधर—उधर बिखरी पड़ी निर्माण सामग्री को व्यवस्थित करने की बात भी कही। उन्होंने सरस्वती व मंदाकिनी किनारे तटबंध बनाने के निर्देश दिए। मुख्यमंत्री ने अधिकारियों से 6 मई से पूर्व चारधाम यात्रियों की सुविधाओं से जुड़े सभी कामों को समय पर समाप्त करने के निर्देश दिए हैं। मुख्यमंत्री ने लौटते समय कालीमढ़ जाकर मां काली के दर्शन कर पूजा—अर्चना भी की गई। इस अवसर पर उनके साथ पर्यटन सचिव दलीप जावेडकर तथा क्षेत्रीय विधायक श्ौला रानी रावत भी मौजूद थी। उनके पूरे भ्रमण के दौरान जिलाधिकारी रुद्रप्रयाग भी मौजूद रहे। मुख्यमंत्री का कहना है कि इस बार यात्रा पर रिकॉर्ड श्रद्धालु आने वाले हैं इसलिए तैयारियां भी बेहतर होनी चाहिए। यात्रा मार्गों पर जन सुविधाएं दुरस्त होनी चाहिए जिससे श्रद्धालुओं को किसी भी तरह की दिक्कत न हो।


गंगोत्री विधायक ने किया यात्रा मार्ग का निरीक्षण
उत्तरकाशी। उत्तरकाशी की गंगोत्री सीट से विधायक सुरेश चौहान ने आज उत्तरकाशी से गंगोत्री तक के सड़क मार्ग का निरीक्षण किया तथा अधिकारियों को यात्रा मार्ग पर जन सुविधाएं दुरुस्त करने के निर्देश दिए। गंगोत्री विधायक ने मार्ग पर पथ—प्रकाश, वाहन पार्किंग, शौचालय निर्माण तथा पेयजल व्यवस्था दुरुस्त करने के निर्देश दिए। उनके साथ जिलाधिकारी नवनीत भी मौजूद रहे। गंगोत्री व यमुनोत्री धाम के कपाट 3 मई को खुलने वाले हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here