चारधाम यात्रा पर मौसम की मार

0
478

जगह—जगह बोल्डर गिरे वाहनों की कतारें लगी
केदारनाथ व बद्रीनाथ मार्ग कई घंटों से बाधित

चमोली/रुद्रप्रयाग। बीते कल से राज्य में हो रही बारिश के बीच चार धाम यात्रा मार्गों पर जगह—जगह हुए भूस्खलन ने चारधाम यात्रियों की मुश्किलें बढ़ा दी है। बद्रीनाथ तथा केदारनाथ मार्ग पर बोल्डर गिरने से मार्ग बाधित हो गए और सड़कों पर कई—कई किलोमीटर लंबी लाइनें लग गई।
प्राप्त जानकारी के अनुसार बद्रीनाथ राजमार्ग पर कर्णप्रयाग और गोचर के बीच पहाड़ से बड़े—बड़े बोल्डर आकर सड़क पर गिर गए। यहां सड़क निर्माण और पंच पुलिया का निर्माण कार्य चल रहा है, मार्ग पर आए इन बोल्डरों के कारण राजमार्ग पर यातायात पूरी तरह ठप हो गया है तथा दोनों तरफ तीन से पांच किलोमीटर लंबी वाहनों की कतारें लग गई। इन बोल्डरों को हटाने में तीन से चार घंटे का समय लगा जिससे यात्रा मार्ग बंद रहा। उधर जोशीमठ से आगे पांडुकेश्वर के पास बारिश के कारण खसरा नाले के पास हुए भूस्खलन के कारण मार्ग बंद हो गया। बारिश और भूस्खलन के कारण फंसे यात्रियों को प्रशासन द्वारा गोविंदघाट में ठहराने की व्यवस्था करनी पड़ी।
उधर रुद्रप्रयाग से प्राप्त समाचार के अनुसार बीती रात केदारनाथ राजमार्ग भी बारिश के कारण पहाड़ से आए मलबे और बोल्डरों के कारण गौरीकुंड के पास बाधित हो गया जिसके कारण आज सुबह केदारनाथ धाम जाने वाले श्रद्धालुओं को भारी मुश्किलों का सामना करना पड़ा। कई घंटे की मशक्कत के बाद हालांकि मार्ग को खोल दिया गया लेकिन इसके कारण चार घंटे यात्रा रोकनी पड़ी। यहंा यह भी उल्लेखनीय है कि गौरीकुंड से केदारनाथ पैदल मार्ग पर बारिश के कारण कीचड़ और फिसलन यात्रा पर आए श्रद्धालुओं के लिए बड़ी मुसीबत बना हुआ है। इस मार्ग पर घोड़े और खच्चरों की आवाजाही भी यात्रियों की मुश्किलें बढ़ा रही है।
कल से खराब मौसम के कारण मैदान से पहाड़ तक कई तरह की मुश्किलें देखी गई हैं। टिहरी, नैनीताल और उधम सिंह नगर से तेज आंधी और बारिश के कारण भारी नुकसान की खबरें हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here