चारधाम यात्रा में गैर हिंदुओं के प्रवेश पर लगे बैन

0
588

साधु—संतों ने की मुख्यमंत्री धामी से मांग


संतों की भावनाओं व राज्य की संस्कृति के अनुरूप लेंगे फैसलाः सीएम

देहरादून। भाजपा की फायर ब्रांड नेता साध्वी प्राची के बाद अब अनेक साधु—संतों ने मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से चार—धाम यात्रा में गैर हिंदुओं के प्रवेश पर पाबंदी लगाने की मांग की है। जिस पर मुख्यमंत्री ने भरोसा दिलाया है कि राज्य व राष्ट्रीय संस्कृति तथा साधु—संतों की भावनाओं के अनुरूप निर्णय लिया जाएगा।
उल्लेखनीय है कि साध्वी प्राची ने इस मुद्दे को अभी बीते दिनों जोर—शोर से उठाया गया था उनका कहना था कि जब हिंदू हज पर नहीं जाते हैं या अन्य धर्मों के तीर्थों पर नहीं जाते हैं तो गैर हिंदुओं के हिंदू धर्मस्थलों पर जाने का क्या औचित्य है। उन्होंने मुख्यमंत्री धामी से आग्रह किया था कि अपनी धार्मिक आस्था को अक्षुण बनाए रखने के लिए वह चारधाम यात्रा में गैर हिंदुओं के प्रवेश पर प्रतिबंध लगाए। उनकी इस मांग के बाद अब चारधाम से जुड़े पंडा पुजारी और हरिद्वार के अनेक साधु—संतों द्वारा भी मुख्यमंत्री धामी से गैर हिंदुओं के चारधाम यात्रा में प्रवेश पर बैन लगाने की मांग जोर—शोर से की जा रही है।
साधु संतों का कहना है कि गैर हिंदुओं की चारधाम यात्रा में उपस्थिति से श्रद्धालुओं को कई बार असहज होना पड़ता है। चारधाम यात्रा मार्गों पर श्रद्धालुओं को सेवाएं देने वालों का उद्देश्य पैसा कमाना होता है न कि श्रद्धालुओं की सेवा करना या उनकी आस्था का सम्मान करना। उनका कहना है कि यात्रा मार्गों पर सेवा करने वाले यह लोग खानपान और सफाई व्यवस्था के लिहाज से भी ठीक नहीं है। लेकिन तमाम दुकानों से लेकर घोड़ा खच्चर वालों तक टोपी वालों की भरमार रहती है जिनका यात्रियों के साथ व्यवहार भी अच्छा नहीं रहता है।
साधु—संतों की इस मांग के बारे में जब पत्रकारों द्वारा सीएम धामी से पूछा गया तो उन्होंने कहा कि वह जो फैसला लेंगे राज्य हित और राज्य की संस्कृति को ध्यान में रखकर ही लेंगे। साथ ही उन्होंने कहा कि हम साधु संतों की भावनाओं के अनुरूप ही फैसला करेंगे। उन्होंने कहा कि वह जल्द ही राज्य में यूनिफॉर्म सिविल कोड लाने की बात कर चुके हैं। इसके लिए कमेटी गठित की जा रही है उसकी रिपोर्ट आने पर इस पर अमल की कार्यवाही जल्द शुरू की जाएगी। उन्होंने कहा कि देवभूमि की संस्कृति और आस्था पद्धति को अक्षुण रखा जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here