आतंकियों के साथ मुठभेड़ में सैनिक की जान बचाने को ‘आर्मी डॉग’ ने दे दी कुर्बानी

0
221


जम्मू । जम्मू-कश्मीर के राजौरी में मंगलवार को आतंकियों और सेना के बीच मुठभेड़ हुई। इस दौरान भारतीय सेना की एक फीमेल डॉग शहीद हो गई। मरने से पहले उसने अपने हैंडलर की जान बचाई। अब उसकी बहादुरी की चर्चा पूरे देश में हो रही। सैन्य अधिकारियों के मुताबिक डॉग का नाम केंट था। वो 6 साल की मादा लैब्राडोर थी, जो काफी वक्त से भारतीय सेना की 21 आर्मी डॉग यूनिट में सेवा दे रही थी। अधिकारियों ने बताया कि जवान आतंकियों का पीछा कर रहे थे, जो झाड़ियों में जा छिपे। इस दौरान केंट को उनकी भनक लग गई और वो तेजी से भागते हुए उनकी ओर जाने लगी। उसको पास आता देख आतंकियों ने गोलीबारी शुरू कर दी।
जवानों के मुताबिक केंट ने अपने हैंडलर की जान की रक्षा करते हुए खुद गोली खाई। उसको तुरंत घटनास्थल से बाहर निकाला गया, लेकिन तब तक उसकी मौत हो चुकी थी। इसके बाद भारतीय सेना के जवानों और अधिकारियों ने उसे अंतिम श्रद्धांजलि दी। साथ ही उसका अंतिम संस्कार किया गया। मामले में जम्मू-कश्मीर के अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक मुकेश सिंह ने कहा कि केंट ‘ऑपरेशन सुजलीगाला’ में सबसे आगे थी। उसने अद्मय साहस और वीरता का प्रदर्शन किया। इस ऑपरेशन में 2 आतंकियों को ढेर किया गया, जबकि एक जवान भी शहीद हुआ है। वहीं आतंकियों की गोलीबारी में एक विशेष पुलिस अधिकारी (एसपीओ) सहित तीन और जवान भी घायल हुए। वहीं पीआरओ डिफेंस जम्मू ने डॉग का एक वीडियो शेयर किया है। जिसमें वो जवानों के साथ सर्च ऑपरेशन में भाग लेती नजर आ रही। सोशल मीडिया पर लोग उसकी जांबाजी की तारीफ कर रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here