वृद्ध व्यापारी की हत्या व लूट का खुलासा, हत्यारोपी गिरफ्तार

0
201

नशे के लिए की गयी थी लूट व हत्या

देहरादून। पटेलनगर क्षेत्र में दिन दहाड़े लूट के दौरान वृद्ध व्यापारी की हत्या करने के मामले का खुलासा करते हुए पुलिस ने हत्यारोपी युवक को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी नशे का आदी है जिसने नशा पूर्ति के उद्देश्य से इस जघन्य हत्याकांड व लूट की घटना को अंजाम दिया था।
एसएसपी/डीआईजी जन्मेजय खण्डूरी ने बताया कि बीते 15 अक्टूबर को कोतवाली पटेलनगर में मनीश तोमर पुत्र कृष्णपाल सिंह तोमर निवासी जीएमएस रोड हरीपुर कांवली द्वारा तहरीर देकर बताया गया कि उनके पिता कृष्णपाल की गोरखपुर तिराहा बडोवाला स्थित दुकान के गोदाम में किसी अज्ञात व्यक्ति द्वारा उनके सिर पर किसी भारी वस्तू से प्रहार कर उन्हे गम्भीर रूप से घायल कर दिया है। बताया कि बेहोशी की हालत में आरोपी उनके जेब व गल्ले से रूपये लूटकर भाग गया है। मामले की गम्भीरता को देखते हुए पुलिस ने तत्काल मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी।

जांच के दौरान पुलिस ने मौके से घटना में प्रयुक्त लोहे का पांच किलो वजनी दुर्मुट, खून लगी लकडी, खून आलूदा मिटृी व डीवीआर बरामद किया। इस पर जब पुलिस ने सीसी कैमरे खंगाले तो पता चला कि एक अज्ञात व्यक्ति द्वारा वृद्व कृष्णपाल सिंह तोमर के सिर पर लगातार लोहे की दुर्मुट से हमला कर लूट की गयी है। इस पर पुलिस ने उक्त व्यक्ति की तलाश शुरू कर दीं। जिसकी शिनाख्त विवेक पंवार उर्फ नटृू पुत्र स्व. वीरसिह पंवार निवासी तेलपुर के रूप मे हुई। इस पर पुलिस ने जब विवेक की तलाश की तो पता चला कि वह फरार है। जिसके बारे में जानकारी करने पर पता चला कि वह नशे का आदी है जिसे एक वर्ष पूर्व ही घर से निकाल दिया गया था। इस बीच 18 अक्टूबर को घायल कृष्णपाल सिंह तोमर की दौराने उपचार सिनर्जी अस्पताल में मृत्यु हो गयी। इस पर पुलिस ने आरोपी के खिलाफ हत्या की धाराओं में भी मुकदमा दर्ज कर लिया। आरोपी विवेक की तलाश में जुटी पुलिस टीम ने आज सुबह एक सूचना के आधार पर उसेे टी—स्टेट प्रेमनगर जाने वाले रास्ते से गिरफ्तार कर लिया है। गिरफ्तारी के बाद आरोपी ने पूछताछ में बताया कि मेरे घर में मेरी बूढी दादी व एक छोटा भाई है । मेरी माता ने सहारनपुर में दूसरा विवाह कर लिया था तथा मेरे पिता का 10—11 वर्ष पूर्व देहान्त हो गया था। बताया कि उसने 2 वर्ष पूर्व ऋषिकेश में वैल्डिंग का काम सीखा था। जहंा दोस्तों की संगत में उसने नशा करना शुरू कर दिया था। बताया कि नशे के चलते ही उसने कृष्णपाल सिंह तोमर की दुकान में घुसकर लूट के इरादे से उनके सिर में लोहे की दुर्मुट से लगातार वार किये। बेहोश हो जाने पर उसने उनकी जेब में रखे 1500 रूपये व गल्ले में रखे 3000 लूट लिये थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here